Yogi

यूपी की योगी सरकार ने मजदूरों और कामगारों को लेकर बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि सभी मजदूरों को रोजगार दिया जाएगा। इनके लिए सरकार लेबर रिफॉर्म कानून ला रही है।

शनिवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 के साथ मीटिंग की। इस दौरान सीएम योगी ने मजदूरों को सुरक्षित वापस लाने के साथ ही लेबर रिफॉर्म कानून के तहत गांव और कस्बों में ही उन्हें रोजगार मुहैया कराने की योजना बनाई। इसके अलावा बाहर से आए 20 लाख प्रवासी मजदूरों में तेजी से स्किलिंग डाटा तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

दिल्ली सरकार का बड़ा आदेश, 24 घंटे में देनी होगी कोरोना वायरस जांच की…

सीएम योगी ने कहा की अब तक उत्तर प्रदेश में करीब आठ लाख मजदूर पहुंच चुके हैं। पिछले दिनों 80 ट्रेनों से करीब सवा लाख मजदूर यूपी पहुंचे हैं। 35 ट्रेनें आज मजदूरों को लेकर यूपी पहुंच जाएगी। प्रतिदिन 30 से 40 ट्रेनों से मजदूरी यूपी पहुंचेंगे।

सीएम योगी ने इन सभी कि सुरक्षित और सम्मानजनक वापसी के अलावा मदद के भी निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने कहा, “विदेशों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को भी आज शारजाह से लेकर लखनऊ पहली फ्लाइट पहुंचेगी. इसमें यूपी के विभिन्न क्षेत्रों के वे कामगार और श्रमिक मौजूद हैं जो रोजगार के लिए खाड़ी देश गए थे”।

अब दिल्ली सरकार उठाएगी प्रवासी मजदूरों को घर भेजने पर होने वाला पूरा खर्च

सभी प्रवासी श्रमिकों और कामगारों को योगी सरकार द्वारा सरकारी क्वारनटीन सेंटरों में स्वास्थ्य जांच के बाद राशन पैकेट और भरण-पोषण के लिए भत्ता देकर होम क्वारनटीन के लिए भेजा जा रहा है।

सीएम योगी ने बताया-

  • यूपी सरकार सबसे पहले आनंद विहार बस स्टैंड पर बसे भेजकर अपने कामगारों और श्रमिकों की सम्मानजनक वापसी के लिए आगे आई थी।
  • सरकार क्वारनटीन पीरियड पूरा होने के बाद उनके लिए नौकरी और रोजगार की व्यवस्था कर रही है।
  • ईट के भट्ठों, मनरेगा, चीनी मिलों और एमएसएमई सेक्टरों में रोजगार की व्यवस्था की जा रही है।
  • जिन लोगों में बीमारी के थोड़े भी लक्षण पाए जा रहे हैं उन्हें इलाज के लिए कोविड हॉस्पिटल में भेजा जा रहा है।
  • राजस्थान से 1 दिन पहले 9,000 प्रवासी कामगारों और श्रमिकों को लाया गया है।
  • करीब 3,000 प्रवासी कामगार और श्रमिक हरियाणा से निगम परिवहन की बसों से आ रहे हैं।
  • सभी को रोजगार देने के लिए लेबर फॉर्म कानून लाया जा रहा है।
  • इस कानून से मजदूरों और कामगारों को बड़ा फायदा होगा। रोजगार सृजन की व्यापक संभावनाएं बढ़ेंगी साथ ही यूपी की अर्थव्यवस्था भी तेजी से दौड़ेगी।
  • इस कानून में हर श्रमिक को रोजगार के अलावा न्यूनतम 15 हजार वेतन की गारंटी और उसके काम की गारंटी के अलावा सुरक्षा की गारंटी मिलेगी।
  • महिला कामगारों के लिए महिला सुरक्षा कानून के तहत सुरक्षा गारंटी दी जाएगी।
  • नहीं इकाइयों के अलावा पुरानी इकाइयों में भी नई भर्तियों में लेबर रिफार्म कानून लागू होगा।
  • यूपी सरकार रेडिमेड गारमेंट के कारोबार के अलावा इत्र, अगरबत्ती, एग्री प्रोडक्ट, फूड पैकेजिंग आधारित कृषि के उत्पादों, फूल आधारित उत्पादों आदि पर कारोबार की रणनीति बना रही है।
  • श्रमिकों के अलावा महिला स्वयं सहायता समूह के माध्यम से भी रोजगार पैदा करने की रणनीति बनाई जा रही है।
  • यूपी सरकार रेडीमेड गारमेंट के साथ ही तमाम उद्योगों का हब बनाने पर सोच विचार कर रही है।
  • इसके साथ ही यूपी सरकार चीन के बड़े उद्यमों के साथ उत्तर प्रदेश को वियतनाम, बांग्लादेश जैसे देशों की तुलना में बेहतर सूक्ष्म, उद्योग और मध्यम उद्योगों का हब बनाने में जुट गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here