WHO

25 मई यानी कल सोमवार से शुरू हुए घरेलू उड़ान सेवाओं को लेकर अब विश्व स्वास्थ्य संगठन का बयान सामने आया है।

देश में जारी कोरोना वायरस के संकट के बीच सोमवार से देश में हवाई सेवा को शुरू कर दिया गया है। इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने सफर भी किया। वहीं, अब भारत सरकार के हवाई सेवा के शुरू करने के फैसले पर विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से प्रतिक्रिया आई है।

आने वाले 2 दिनों तक राजधानी का सामना झुलसा देने वाली गर्मी से…

WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने भारत में हवाई सेवा शुरू करने पर कहा कि हवाई सेवा का लाभ उठा रहे लोगों को कम से कम एक मीटर या उससे अधिक की दूरी का पालन करना चाहिए। एक निजी चैनल से बात करते हुए WHO के तकनीकी प्रमुख डॉक्टर मारिया वान केरखोव ने कहा कि लोगों को दूरी का ख्याल रखना चाहिए।

केरखोव ने कहा, हवाई सफर के दौरान सोशल डिस्टेंसिन का पालन किया जाए यात्रा के दौरान बीच की कुर्सी को खाली रखा जाए। उन्होंने कहा कि यात्रा को धीमे स्तर पर देखना अच्छा है।

लैंडलाइन नंबर से चलाएं WhatsApp, ये है तरीका

आपको बता दें, सोमवार से बंगाल और आंध्र प्रदेश को छोड़कर देश के कई अन्य एयरपोर्ट्स से विमान सेवा शुरू हो गई है। यात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन हो साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सके इसके लिए भी हवाई अड्डों पर तैयारी की गई थी।

आपको बता दें, मार्च में शुरू Lockdown (लॉक डाउन) के साथ ही विमान सेवाओं पर भी रोक लगा दी गई थी। हालांकि अब एक बार फिर घरेलू विमान सेवा शुरू की गई है। सब कुछ ठीक रहा तो अगस्त से सितंबर महीने से इन उड़ानों के साथ ही अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को भी शुरू किया जा सकता है।

गौरतलब है कि, विमान सेवा शुरू करने को लेकर कई राज्यों ने असमर्थता भी जाहिर की थी। इन राज्यों में महाराष्ट्र, बंगाल, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु शामिल हैं। इन राज्यों ने विमान सेवा शुरू करने को लेकर कई सारे सवाल खड़े किए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here