Dev Fadnavis

लॉक डाउन के बीच कपिल वाधवान समेत 22 लोगों के महाबलेश्वर जाने का मामला सामने आया है।

देश में जारी लॉक डाउन के बीच महाराष्ट्र की पंचगनी पुलिस ने सुर्खियों में रहे DHFL मामले से जुड़े कपिल वाधवान समेत 22 लोगों को महाबलेश्वर से गिरफ्तार किया है। अब इस मामले में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार पर सवालिया निशान लगाए हैं।

देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले को लेकर ट्वीट करते हुए कहा, “महाराष्ट्र में शक्तिशाली और अमीर लोगों के लिए कोई लॉकडाउन नहीं है? पुलिस की आधिकारिक इजाजत से कोई महाबलेश्वर में छुट्टियां बिता सकता है. यह मुमकिन नहीं है कि एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी इस तरह की घोर गलती को अपने दम पर अंजाम दे”।

Devendra Fadnavis Tweets1

वहीं, अपने दूसरे ट्वीट में फडणवीस ने पूछा, “यह किसके आदेश या आशीर्वाद से हुआ था? सीएम और गृह मंत्री को स्पष्टीकरण देना चाहिए”।

Devendra Fadnavis Tweets2

बता दें, पूर्व सीएम फडणवीस के साथ ही भाजपा नेता
किरीट सौमेया ने भी इस मामले पर महाराष्ट्र सरकार को घेरा है। किरीट सौमेया नेता ने आरोप लगाया कि लॉक डाउन के मध्य वाधवान परिवार मुंबई के महाबलेश्वर कैसे पहुंच गया?। क्या सरकार यस बैंक के आरोपियों को वीवीआईपी ट्रीटमेंट मुहैया करा रही है। उन्होंने इस मामले पर महाराष्ट्र के राज्यपाल को हस्तक्षेप करने की भी बात कही है।

बता दें, इस मामले को लेकर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने जांच की बात कही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “वाधवान परिवार के 23 सदस्य महाबलेश्वर तक कैसे पहुंचे इसकी जांच होगी”।

पुलिस कर रही है जांच

हालांकि अब वाधवान परिवार के इन लोगों को पुलिस महाबलेश्वर से पंचगनी के बेल एयर अस्पताल पहुंची है।
पुलिस की मानें तो उनका कहना है जांच की जा रही है। अगर इन लोगों के द्वारा लॉक डाउन के नियमों का अनुपालन किया गया होगा तो, इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि इस बीच एक पत्र भी सामने आया है जिसमें महाराष्ट्र सरकार के गृह विभाग के विशेष सचिव और एडिशनल डीजीपी अमित गुप्ता ने अपने आधिकारिक पत्र में वाधवान परिवार के सदस्यों को महाबलेश्वर जाने की अनुमति दी है।

कई मामलों में आरोपी वाधवान बंधु

DHFL के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक कपिल वाधवान (47) गैर-कार्यकारी निदेशक धीरज वाधवान के विरुद्ध पूर्व से एक अन्य मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जांच जारी है। इस मामले में कपिल वाधवान को ईडी ने हिरासत में भी लिया था लेकिन फिलहाल वह जमानत पर बाहर हैं। वहीं दूसरे मामले YES बैंक फर्जीवाड़े में राणा कपूर के विरुद्ध जांच जारी है इनमें भी मनी लॉन्ड्रिंग की जांच के दायरे में अब वाधवान बंधु भी सीबीआई और ईडी के निशाने पर हैं।

पिछले माह ईडी के बुलावे पर नहीं पहुंचे थे वाधवान बंधु

ईडी ने पिछले महीने वाधवान बंधुओं को यस बैंक मामले में जांच के लिए समन जारी किया था। उस वक्त कपिल वाधवानी ईडी के भेजे जवाब में यह कहा था, “मैं स्वास्थ्य परेशानियों से गुजर रहा हूं. कोरोना वायरस महामारी और मेरी उम्र के चलते मेरी पहले से खराब सेहत को अधिक जोखिम है. इसलिए मेरे लिए मुंबई की यात्रा करना मुश्किल है”। वहीं, उनके भाई धीरज वाधवान द्वारा भी कुछ ऐसा ही पत्र ईडी को भेजा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here