एक बार फिर विशाखापट्टनम में गैस लीक होने की सूचना मिल रही है। बता दें, अब तक इस मामले में 11 लोगों की जान जा चुकी है जबकि कई लोग अस्पताल में भर्ती है।

विशाखापट्टनम में एक बार फिर से गैस लीक होने की सूचना मिल रही है। कहा जा रहा है दोबारा उसी जगह पर गैस लीक हुई है जहां गुरुवार तड़के गैस लीक होने की घटना सामने आई थी। वहीं गैस लीकेज मामले पर मौके पर 50 दमकलकर्मी मौजूद हैं उनके साथ ही एनडीआरएफ के कर्मचारी भी स्थिति को संभाले हुए हैं। इसके अलावा गैस लीक को निष्क्रिय करने के लिए एयर इंडिया के स्पेशल कार्गो विमान से पीटीबीसी केमिकल को गुजरात से विशाखापट्टनम पहुंचाया गया है।

विशाखापट्टनम जिले के दमकल अधिकारी संदीप मोहन का कहना है कि कंपनी के आसपास के पास लोग के 5 किलोमीटर के दायरे में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कह दिया गया है साथ ही उनको वहां से हटाने का कार्य भी शुरू हो गया है। कंपनी स्टाइरीन गैस की लीकेज हुई है जिसके कारण लोगों की तबीयत बिगड़ रही है।

दिल्ली: बदला शराब खरीदने का नियम, अब ऐसे खरीदनी होगी

ताजा जानकारी के अनुसार, मौके पर दमकल की 10 और गाड़ियां पहुंच गई है इसके साथ ही 2 फोम टेंडर्स की भी गाड़ियां हैं। इसके अलावा आपातकाल स्थिति से निपटने के लिए एंबुलेंस तैयार हैं। वहीं आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिया गया है जिस पर संपर्क करके लोग मदद मांग सकते हैं। साथ ही सतर्कता बरतने की अपील की गई है। पुलिस द्वारा लोगों से बार-बार ये अपील की जा रही है कि वह गांव को खाली करें दें, घबराएं नहीं।

गुरुवार तड़के हुआ हादसा

बता दें की घटना गुरुवार तड़के करीब ढाई बजे विशाखापट्टनम के गोपालपट्टनम इलाके में स्टाइरीन गैस के रिसाव के कारण हुई। इस गैस का रिसाव एलजी पॉलीमर्स इंडिया प्रा. लि. कंपनी में हुआ। अब तक इस हादसे में 11 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कई लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

शुरुआती जांच में ये बात सामने आ रही है कि गैस वॉल्व में दिक्कत के कारण यह हादसा हुआ। गुरुवार तड़के 2:30 बजे गैस वाल्व खराब होने की वजह से जहरीली गैस की लीकेज शुरू हो गई। गैस रिसाव से फेक्ट्री के तीन किलोमीटर के इलाका प्रभावित हुआ हैं। सैकड़ों लोग को सिर दर्द, उल्टी और सांस लेने में तकलीफ बाद अस्पताल पहुंचाया गया।

ग्रेटर विशाखापट्टनम नगर निगम के अधिकारियों के अनुसार, “कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के कारण बंद हुई केमिकल यूनिट को गुरुवार सुबह फिर से शुरू किया गया. कुछ समय बाद टैंकों में जमा गैस लीक होने लगी और तीन किलोमीटर के दायरे में फैल गई.” अधिकारियों के मुताबिक, “स्टाइरीन और पेंटाइन गैसें संभवत: दुर्घटना का कारण बनीं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here