उत्तराखंड में मॉनसून को पहुंचे 1 हफ्ते से ज्यादा का वक्त बीत चुका है। इस बीच मौसम विभाग की ओर से उत्तराखंड के कई जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

ज्यादातर राज्यों में मानसून दस्तक दे चुका है। ऐसे में मौसम विभाग लगातार राज्यों के लिए बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी जारी कर रहा है। इस बीच अब मौसम विभाग ने नैनीताल, पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिलों के लिए जुलाई की शुरुआत में भारी बारिश और बजली गिरने को लेकर चेतावनी जारी की है।

विभाग के अनुसार, प्रदेश में आज यानी 2 जुलाई से लगातार बारिश जारी रहेगी। इसके अलावा कई जिलों के लिए भारी बारिश और बजली गिरने का अलर्ट जारी किया गया है।

मॉनसून को हो चुका है एक हफ्ते का समय

उत्तराखंड में मानसून पहुंचे एक हफ्ते का समय बीत चुका है। वहीं अब बारिश का दौर भी बढ़ गया है। देहरादून में सोमवार को लगातार दूसरे दिन हुई बारिश से लोगों को राहत मिली। वहीं मौसम विभाग ने प्रदेश भर में आने वाले 4-5 दिनों में बारिश की संभावना जताई है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार 30 जून और 1 जुलाई को पिथौरागढ़, नैनीताल, बागेश्वर में अधिकांश जगह, अल्मोड़ा, चंपावत, चमोली,उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी और देहरादून में अनेक जगह गरज के साथ बारिश हो सकती है। 2 जुलाई को कुमाऊं मंडल के जिलों में अधिकांश जगह और गढ़वाल मंडल के जिलों में अनेक जगह बारिश होने की संभावना है। इस दौरान नैनीताल, पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिले में कहीं-कहीं भारी बारिश भी हो सकती है।

3 जुलाई को प्रदेश के अधिकांश जगहों पर बारिश

विभाग ने 3 जुलाई को प्रदेश के सभी जिलों में ज्यादातर हिस्सों में बारिश होने की बात कही है जबकि देहरादून, नैनीताल, पिथौगराढ़, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर जिले में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की आशंका है। इसके बाद अगले 2-3 दिन तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा।

आपको बता दें कि उत्तराखंड के श्रद्धालओं के लिए एक खुशखबरी हैं कि एक जुलाई से चार धाम के दर्शन कर सकेंगे। उत्तराखंड सरकार के नियंत्रण वाले चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ने सोमवार को राज्य के निवासियों को एक जुलाई से बदरीनाथ, केदारनाथ सहित सभी चार धामों के दर्शन के लिए अनुमति दे दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here