1 जुलाई से उत्तर प्रदेश में अब सरकारी प्राइमरी स्कूल खुल जाएंगे हालांकि अभी केवल शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को स्कूल आना होगा।

उत्तर प्रदेश में अब 1 जुलाई से सरकारी प्राइमरी स्कूल खुल जाएंगे हालांकि अभी केवल शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को स्कूल आना होगा। बता दें, बेसिक शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद ने इस बारे में आदेश जारी किया है।

आनंद ने कहा है कि एक जुलाई से शिक्षक और प्रधानाध्यापक स्कूलों में रह कर महत्वपूर्ण कामों को पूरा करेंगी। इसमें सबसे पहले शारदा अभियान के तहत 6 से 14 साल तक के बच्चों के प्रवेश को सुनिश्चित किया जाएगा। इसका अलावा शिक्षकों को दीक्षा ऐप के जरिए अपना प्रशिक्षण भी पूरा करना है। वहीं राज्य सरकार द्वारा विकसित आधारशिला, ध्यानाकर्षण और प्रशिक्षण संग्रह का प्रशिक्षण भी प्रस्तावित है। 20 जुलाई से इसका प्रशिक्षण खण्ड शिक्षा अधिकारी 25-25 शिक्षकों का बैच बना कर देंगे।

आपको बता दें, इस बीच शिक्षकों को बच्चों तक किताबें पहुंचाना और यूनिफार्म बनवाने के काम को पूरा करना होगा। वहीं दिव्यांग बच्चों का नामांकन समर्थ ऐप के जरिए ऐप पर कराया जाना है। इसके लिए टीचर्स को गांवों और मजरों में जाकर ऐसे बच्चों को ऐप पर पंजीकृत करना है इनके लिए शैक्षणिक योजना तैयार करना है। इसके अलावा इस दौरान मानव संपदा पोर्टल पर उपलब्ध ब्यौरों का सत्यापन और यू डायस डाटा को भी सही करने का काम किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here