CM Yogi

यूपी की योगी सरकार कोरोना को लेकर सख्त हो गई है और एक के बाद एक कदम उठा रही है। एक दिन पहले ही यूपी में पैदल या असुरक्षित वाहन से सीमा में आ रहे लोगों की एंट्री रोक दी गई थी तो वहीं अब एक और फैसला वायरस को लेकर लिया गया है।

देश में कोरोना की मार कम होने का नाम नहीं ले रही लॉक डाउन के बावजूद यह संक्रमण अब भी फैल रहा है। सरकार की ओर से लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहा जा रहा है तो वहीं अब उत्तर प्रदेश में उन लोगों पर जुर्माना लगाया जायगा जो कहीं थूकने या फिर बगैर मास्क के पाए जाते हैं।

बदल गए नियम, कार में फास्टैग लगा है तब भी नेशनल हाईवे पर लग…

एपिडेमिक एक्ट के द्वितीय संशोधन की अधिसूचना उत्तर प्रदेश में जारी की गई है। उत्तर प्रदेश महामारी कोविड-19 (द्वितीय संशोधन) विनियमावली 2020 को राज्यपाल से मंजूरी मिलने के बाद प्रमुख सचिव (चिकित्सा) अमित मोहन प्रसाद ने अधिसूचना जारी की है।

इस अधिसूचना के मुताबिक बिना फेस कवर किए हुए बाहर निकलने या फिर सार्वजनिक जगहों पर थूकते पाए जाने पर पहली और दूसरी बार में 100 रुपए का जुर्माना लगेगा तो वहीं, तीसरी बार ऐसा करते हुए पकड़े जाने पर 500 रुपए का जुर्माना देना होगा।

जानें लॉक डाउन 4.0 में किसे कितनी राहत

इसके साथ ही लॉक डाउन का उल्लंघन करते पाए जाने पर पहली बार में 100 से 500 रुपए तक का, दूसरी बार में 500 से 1000 रुपए तो वहीं, आगे हर बार 1000 रूपए का जुर्माना देना होगा। इसके अलावा दुपहिया वाहन पर एक से ज्यादा लोगों के होने पर पहली बार में ढाई सौ रुपए दूसरी बार में 500 रुपये तीसरी बार में 1000 तो वहीं, चौथी बार पकड़े जाने पर ड्राइविंग लाइसेंस के निलंबन या निरस्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी।

  • सशर्त अनुमति जरूरी

किसी विशेष परिस्थिति में दोपहिया वाहन पर एक से ज्यादा व्यक्ति जा सकते हैं लेकिन इसके लिए उन्हें मजिस्ट्रेट के जरिए सशर्त अनुमति लेनी होगी। वहीं दूसरे व्यक्ति को हेलमेट पहनने के साथ ही मास्क लगाने और ग्लब्ज पहने होंगे। इस नियम का उल्लंघन करने पर संबंधित न्यायालय, कार्यपालक मजिस्ट्रेट, चालान वसूल करने वाले इंस्पेक्टर रैंक तक के पुलिस अधिकारी एपिडेमिक एक्ट के तहत जुर्माना वसूलने के लिए अधिकृत होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here