UP Board

देश में जारी लॉक डाउन के बीच यूपी की योगी सरकार ने एडमिशन का नया रास्ता निकाल लिया है इसके तहत अब WhatsApp के जरिए बच्चों के एडमिशन किए जाएंगे।

दुनिया भर में कोरोना वायरस की मार के कारण लगाए गए देशव्यापी लॉक डाउन के बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने यूपी बोर्ड के स्कूलों में दाखिले के लिए एक नया रास्ता खोज लिया है। दरअसल अब यूपी बोर्ड के सभी स्कूलों में बच्चों के एडमिशन व्हाट्सएप के जरिए किए जाएंगे। यूपी शिक्षा विभाग की ओर से इस अनूठे तरीके को अनुमति भी मिल गई है। बता दें, इससे पहले यूपी में माध्यमिक शिक्षा विभाग ने क्लास 6, 7, 8, 9 और 11वीं के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के अगली क्लास में भेजने के आदेश दिए हैं।

CBSE Board Exams को लेकर इंतजार खत्म, सरकार ने…

वहीं, ताजा व्यवस्था के अनुसार, व्हाट्सएप के जरिये स्कूल प्रबंधक छात्रों को अगली कक्षा में दाखिला दे सकते हैं। इसके लिए स्कूल प्रबंधन प्रधानाचार्य और शिक्षक के मोबाइल नंबर का प्रचार-प्रसार कर सकते हैं जिससे की पिछले क्लास में पास हुए स्टूडेंट अगली कक्षा में एडमिशन के लिए आवेदन कर सकते हैं। स्टूडेंट्स या उनके परिजन व्हाट्सएप पर ही जानकारी दे सकते हैं और प्रोविजनल के तौर पर दाखिला ले सकते हैं।

जिसके बाद जुलाई में लॉकडाउन के खुलने के बाद स्कूल प्रबंधन दाखिले की कागजी कार्रवाई कर उस पर मुहर लगा सकता है। इसके अलावा एडमिशन दिए गए स्टूडेंट्स को स्कूल ऑनलाइन शिक्षा व्यवस्था से जोड़ सकता है।

सरकार की ओर से जारी निर्देश में ऑनलाइन वर्चुअल क्लास के लिए जो व्हाट्सएप ग्रुप का निर्माण किया गया है, उस पर ऐडमिशन लिए हुए छात्रों को जोड़कर ऑनलाइन शिक्षा का लाभ देने का निर्देश है। लखनऊ में तो सहायता प्राप्त विद्यालय अमीनाबाद इंटर कॉलेज ने ऑनलाइन प्रवेश की प्रक्रिया शुरू भी कर दी है। प्रधानाचार्य के अनुसार, क्लास 12 तक में छात्र एडमिशन ले सकते हैं।

प्रबंधन के अनुसार,स्टूडेंट पेपर पर अपना, पिता का नाम, जिस कक्षा में एडमिशन लेना है, मोबाइल नंबर, आधार नंबर आदि लिखकर व्हाट्सएप कर सकता है। इसके बाद उस स्टूडेंट को ऑनलाइन ग्रुप में जोड़कर ऑनलाइन शिक्षा भी दी जाएगी। जिसके बाद स्कूल खुलने पर उससे ओरिजनल डाक्यूमेंट्स मंगाकर उसे स्कूल के एडमिशन रिकॉर्ड में दर्ज कर लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here