दो से ज्यादा हथियार रखने वालों के लिए बड़ी खबर है। अब उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दो से ज्यादा हथियार रखने वालों को करना होगा ये काम।

लाइसेंस धारी हथियार रखने वालों के लिए बड़ी खबर है। दरअसल, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के जो लाइसेंस धारक हैं वो अब दो से ज्यादा हथियार नहीं रख सकेंगे। ऐसे लोग जिनके पास दो से ज्यादा हथियार हैं उनको अब एक लाइसेंस जमा कराना होगा। केंद्रीय गृह मंत्रालय की जारी अधिसूचना के मुताबिक, ये आदेश लखनऊ मजिस्ट्रेट ने जारी किया है।

बता दें, दो से ज्यादा हथियार रखने वाले लोगों को तीसरा लाइसेंस किसी अन्य शस्त्र लाइसेंसधारक, आर्म्स डीलर या फिर थाने के माल खाने में जमा कराना होगा। ऐसे लोग जो आधिकारिक तौर पर लाइसेंस जमा नहीं करेंगे उनका तीसरा लाइसेंस निरस्त माना जाएगा। बता दें,  शस्त्र लाइसेंस के नवीनीकरण को भी बढ़ाया गया है इसे अब 3 साल से बढ़ाकर 5 साल कर दिया गया है।

आपको बता दें, हथियारों का लाइसेंस आत्मरक्षा के मसले पर दिया जाता है लेकिन प्रशासन नियमों का उल्लंघन होने पर दिए गए लाइसेंस को रद्द किया जा सकता है।

इन स्तिथियों में रद्द किया जा सकता है लाइसेंस

* प्रशासन उस परिस्थितियों में किसी की बंदूक या पिस्टल के लाइसेंस को रद्द कर सकती है जब उन्हें ये पब्लिक के हित और सुरक्षा के लिए जरूरी लगे।

* अगर वो व्यक्ति जिसे बंदूक या पिस्टल का लाइसेंस मिला है, वो अगर दिमागी रूप से डिस्टर्ब हो जाता है, तो प्रशासन उसके लाइसेंस को रद्द कर सकता है।

*  अगर कोई व्यक्ति झूठी जानकारी देकर किसी तरह की कोई जानकारी नियमों का उल्लंघन करता है तो ऐसे में लाइसेंस रद्द किया जा सकता है।

* लाइसेंस की शर्तों, आर्म्स एक्ट और आर्म्स रूल्स के कानून का उल्लंघन होने की स्थिति में लाइसेंस रद्द किया जा सकता है।

* अगर हथियार को जमा करने के निर्देश के बावजूद लाइसेंस रखने वाला उसका पालन करने में नाकाम पाया जाता है, तो भी लाइसेंस को रद्द करने की कार्रवाई की जा सकती है।

* इसके अलावा लाइसेंस जिसके नाम है, वह चाहे, तो आवेदन देकर अपने लाइसेंस को रद्द करवा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here