उत्तर प्रदेश में जातियों पर सरकार ने बड़ा एक्शन लेते हुए क्वारनटीन खत्म होते ही 17 जमातियों को जेल भेज दिया है।

देश में लगातार कोरोना अपना असर दिखा रहा है। इस बीच तबलीगी जमात से जुड़े कई लोग भी वायरस से संक्रमित पाए गए है जिन पर अब एक्शन लिया जा रहा है। बता दें उत्तर प्रदेश में विदेशी तबलीगी जमातियों जिनको पासपोर्ट, वीजा नियमों के उल्लंघन करने का दोषी पाया गया है उन्हें हिरासत में ले लिया गया है।

आपको बता दें, प्रदेश में तबलीगी जमात के लोगों पर कार्रवाई करते हुए बहराइच में क्वारनटीन खत्म होते ही इंडोनेशिया और थाइलैंड मूल के 17 विदेशी जमातियों को सलाखों के पीछे भेज दिया गया है। यहां शहर की ताज और कुरैश मस्जिद से इंडोनेशिया और थाइलैंड के 17 विदेशियों समेत 21 तबलीगी जमातियों को बहराइच पुलिस ने हिरासत में लिया था, जिन्हें वायरस के कारण क्वारनटीन में रखा गया था।

वहीं, क्वारनटीन के खत्म होते ही 17 विदेशियों समेत 21 तबलीगी जमातियों से जुड़े लोगों को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया जिनमें से 17 विदेशी जमातियों को वीजा- पासपोर्ट नियमों का उल्लंघन करने का दोषी माना गया है और उन्हें जेल भेज दिया गया है। इससे पहले सभी लोगों को वायरस के चलते क्वारनटीन किया गया था जिनकी जांच में रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

इन धाराओं में दर्ज हुआ केस

बहराइच की नगर कोतवाली में इन सभी पर धारा 269, 270, 271, 188, महामारी अधिनियम (1897) की धारा 03, पासपोर्ट अधिनियम (1967) की धारा 12(3), विदेशियों विषयक अधिनियम 1946 की धारा 14(b), 14(c) के अलावा आपदा प्रबंधन अधिनियम (2005) की धारा 56 के तहत केस दर्ज किया गया है।

पुलिस अधीक्षक विपिन कुमार मिश्रा ने जानकारी देते हुए कहा कि पुलिस को 31 मार्च को यह सूचना मिली थी की शहर की कुरैश और ताज मस्जिद में तबलीगी जमात में शामिल लोग छुपे हुए हैं। इसके बाद जब पुलिस द्वारा छापेमारी की गई तो वहां ताज मस्जिद से 2 भारतीय समेत 7 थाइलैंड मूल के विदेशी जमाती और कुरैश मस्जिद से 2 भारतीय समेत 10 इंडोनेशियन विदेशी जमाती हिरासत में लिए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here