Uber

दुनिया में फैले कोरोना के जाल के कारण अमेरिकी कंपनी उबर ने 37 हजार कर्मचारियों की छंटनी का फैसला लिया है

देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में कोरोनावायरस का प्रकोप बरस रहा है। दुनिया के सबसे ताकतवर देशों में शुमार अमेरिका भी कोरोना के आगे पस्त हो चुका है। इसकी वजह से अमेरिका में करीब 74 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। तो वहीं, जीडीपी ग्रोथ रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया है। इसके अलावा बेरोजगारी की बात करें तो यहां 1930 के बाद सबसे ज्यादा बढ़ी है। हालात इतने खस्ता हो चुके हैं कि अमेरिका की बड़ी और भरोसेमंद कंपनियां तक अब छटनी का सहारा ले रही है।

  • उबर में होगी 3700 कर्मचारियों की छंटनी

ऑनलाइन राइड उपलब्ध कराने वाली अमेरिकी कंपनी उबर ने एक साथ करीब 37 हजार कर्मचारियों को झटका देते हुए छटनी का ऐलान किया है। उबर ने यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन (एसईसी) में इसकी जानकारी देते हुए कहा, “कोरोनावायरस महामारी से उत्पन्न आर्थिक चुनौतियों, अनिश्चितता और व्यवसाय पर इसके प्रभाव के चलते कंपनी ने अपने परिचालन खर्च को कम करने की योजना बनाई है.”

Sarkari Naukri 2020: बिहार, बंगाल समेत कई राज्यों में निकली बंपर वैकेंसी

इसके आगे उबर ने आगे कहा कि अपने राइड्स सेगमेंट में कम ट्रिप वॉल्यूम और मौजूदा हायरिंग फ्रीज की वजह से कंपनी ने अपने कस्टमर सपोर्ट और रिक्रुटर्स टीम को कम करने का फैसला लिया है जिसके लिए करीब 3 हजार 700 फुल-टाइम कर्मचारियों की छंटनी की जाएगी।

उबर के सीईओ दारा खोसरोशाही ने कर्मचारियों को लिखे एक पत्र में कहा, “हमारी राइड ट्रिप वॉल्यूम्स में काफी गिरावट आने के साथ ही कम्युनिकेशन ऑपरेशन्स आदि की जरूरत काफी कम हो गई है और अब रिक्रुटर्स के लिए पर्याप्त काम नहीं है. यही वजह है कि ये फैसला लिया गया है”

  • खराब रहा अप्रैल का महीना

बता दें, अप्रैल महीने में अमेरिकी कंपनियों ने दो करोड़ से ज्यादा लोगों को नौकरी से बाहर निकाल दिया है। यह अमेरिका में जॉब के लिए सबसे खराब महीना रहा है। एक सर्वेक्षण में कई अमेरिकी इकोनॉमिक्स का ये अनुमान है कि अप्रैल में 2.18 करोड़ नौकरियां चली गई। हालांकि इस बारे में आधिकारिक आंकड़ा शुक्रवार को आएगा। बता दें, कोरोना वायरस महामारी के कारण अमेरिका में कारखाने स्कूल, निर्माण कार्य, दफ्तर, स्टोर सब कुछ बंद है जिसकी वजह से अर्थव्यवस्था भी बुरी तरह प्रभावित हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here