राजधानी समेत कई राज्य जो भीषण गर्मी और चिलमिलती धूप का सामना कर रहे लोगों के लिए एक अच्छी खबर है।

दक्षिण पश्चिम मॉनसून पश्चिमी और मध्य भारत के अधिकतर हिस्सों में दस्तक दे चुका है। IMD (भारत मौसम विज्ञान विभाग) के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक और निम्न दबाव वाला क्षेत्र बनने से दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश और इससे सटे इलाकों में चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। विभाग के मुताबिक इसी सिस्टम की वजह से पश्चिम यूपी और उत्तर पश्चिम भारत के बाकी हिस्सों में मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।

IMD के अनुसार, मॉनसून उत्‍तर-पश्चिम भारत में अपने समय पर पहुंच सकता है। जिससे राजधानी दिल्‍ली, पंजाब-हरियाणा और हिमाचल प्रदेश जैसे दूसरे राज्यों में भी वक्‍त पर मॉनसून की बारिश हो सकती है। बंगाल की खाड़ी में 19-20 जून को एक निम्‍न दबाव का क्षेत्र बनने को आशंका है। जिसके बाद अगले कुछ दिनों में देश के अलग-अलग हिस्‍सों में झमाझम बारिश देखने को मिल सकती है।

आपको बता दें, विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, उत्तर पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों में 21 से 25 जून के बीच मॉनसून के पहुंचने की संभावना है। 21-22 जून को उत्तराखंड और वेस्ट यूपी में मॉनसून पहुंचने के आसार है, जबकि उत्तर-पूर्व राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली के पूर्वी हिस्सों में 22-23 जून को मॉनसून दस्तक दे सकता है।

वहीं, 23-24 जून को हिमाचल प्रदेश, पश्चिम राजस्थान, पंजाब और जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों में मॉनसून पहुंच सकता है। ऐसे में अब राज्यों को चिलचिलाती धूप और भीषण गर्मी से राहत मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here