सावन के पहले सोमवार को देश भर के शिव मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ लगी। इस दौरान भक्तों ने शिवजी को जल चढ़ाकर पूजा-अर्चना की।

आज यानी 6 जुलाई से सावन का पावन महीना शुरू हो गया है। भगवान और भक्त दोनों एक दूसरे के लिए बेताब है। भक्तों की अपने भगवान से श्रद्धा कोरोना वायरस को चीरते हुए उनके मंदिरों तक जा पहुंची है। दुनिया पर फैले इस वायरस के संकट के बीच भक्त अपने भोले बाबा को जल चढ़ाने के लिए मंदिरों की ओर पहुंचे। सुबह से ही देशभर के शिव मंदिरों में भक्तों की कतारें देखने को मिल रही है।

हालांकि इस दौरान मंदिरों में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। कई जगह पर भगवान शिव का जलाभिषेक किया गया तो वहीं भोले की नगरी वाराणसी से लेकर उज्जैन में बाबा महाकाल और राजधानी दिल्ली के मंदिरों में भी शिव भक्तों ने अपने भोले को जल और दूध अर्पित किया।

सावन के पहले सोमवार को महाकालेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना की गई भक्त बड़ी संख्या में सुबह से ही बाबा भोले के दर्शन के लिए पहुंचे। इस दौरान यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया।

वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर के बाहर सुबह से ही भक्तों की लंबी-लंबी कतारें लगी रहीं। हालांकि यहां मंदिर प्रबंधन की ओर से और स्थानीय प्रशासन की ओर से बैरिकेडिंग की व्यवस्था की गई थी ताकि वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

सीएम योगी ने भी गोरखपुर में शिव को चढ़ाया जल

सोमवार सुबह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में भगवान शिव को जल अर्पित किया। इस पावन अवसर पर सीएम योगी सुबह-सुबह ही मानसरोवर मंदिर पहुंचे जहां उन्होंने भगवान शिव को जल चढ़ाकर दूध अभिषेक करा कर पूजा-अर्चना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here