liquor

तमिलनाडु में शराब की दुकान खोलने के आदेश दे दिए गए हैं। जिसके बाद दुकानों के बाहर भीड़ का नजारा देखने को मिला।

देश में जारी लॉक डाउन को उनको 2 हफ्ते के लिए तीसरी बार आगे बढ़ा दिया गया है। इस लॉक डाउन 3.0 में सरकार के द्वारा कई दुकानों को छूट दी गई है जिसमें शराब की दुकानें भी शामिल है। तमिलनाडु में भी लॉक डाउन 3.0 में शराब की दुकानों को खोलने की इजाजत दे दी गई है लेकिन जब शराब की दुकानों को खोलने की इजाजत मिली तो दुकानों के बाहर लंबी-लंबी कतारें नजर आई। तमिलनाडु में शराब बिक्री के जो आंकड़े नजर आए हैं वह चौकाने वाले हैं। प्रदेश में 1 दिन के अंदर 172.15 करोड़ की शराब बिकी है।

अब इस राज्य में बिकेगी ऑनलाइन शराब, रजिस्ट्रेशन के बाद होम डिलीवरी की मिलेगी…

तमिलनाडु स्टेट मार्केटिंग कॉर्पोरेशन के मुताबिक, एक दिन में प्रदेश में 172.59 करोड़ रुपये मूल्य के शराब बिकी है। कॉर्पोरेशन के मुताबिक, प्रदेश की कुल 5146 दुकानों पर एक दिन में शराब की बिक्री औसतन 70 से 80 करोड़ रुपये की होती है। लेकिन 3750 दुकानों पर ही एक दिन में 170 करोड़ से ज्यादा कीमत की शराब की बिक्री हुई है। यह एक दिन में कमाए जाने वाले कलेक्शन के दुगने से भी ज्यादा।

कॉर्पोरेशन के अनुसार, “मदुरै जोन में सर्वाधिक 46.78 करोड़ रुपये की शराब बिकी. वहीं, त्रिची जोन में शराब की दुकानों का कलेक्शन 45.67 करोड़ रुपये का रहा. इसी तरह सलेम जोन में 41.56, कोयंबटूर जोन में 28.42 करोड़ और चेन्नई जोन में सबसे कम 10.16 करोड़ रुपये की शराब बिकी”. कॉर्पोरेशन के मुताबिक दिवाली, पोंगल और नए साल के अवसर पर करीब 120 करोड़ से 200 करोड़ के बीच शराब की सेल रहती है।

दिल्ली: बदला शराब खरीदने का नियम, अब ऐसे खरीदनी होगी

गौरतलब है कि लॉक डाउन के बाद जब शराब के दुकानों के शटर खोले गए तो एक ही दिन में 170 करोड से ज्यादा का कलेक्शन रहा। आपको बता दें, देश के कई हिस्सों में शराब की दुकानों पर इतनी भीड़ देखने को मिली कि सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गई। दुकानों को खोलने के आदेश पर ही चर्चा होने लगी। कई सरकारों ने तो प्रति व्यक्ति खरीद की सीमा तक को निर्धारित कर दिया है। तो वहीं, पंजाब ने शराब की होम डिलीवरी भी शुरू करने की घोषणा कर दी है।

लॉकडाउन के बाद जब दुकानें खुलीं, तब एक दिन में कलेक्शन 170 करोड़ से अधिक रहा. बता दें कि देश के कई हिस्सों में शराब की दुकानों पर इतनी भीड़ उमड़ी, सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ीं, कि इसे शुरू करने के आदेस पर ही चर्चा होने लगी. कई सरकारों ने प्रति व्यक्ति खरीद की सीमा निर्धारित कर दी, तो पंजाब ने शराब की होम डिलीवरी शुरू कराने की घोषणा कर दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here