वाराणसी के दशाश्वमेध घाट पर गलवान में चीन और भारत की सेना में हुई हिंसक झड़प में शहीदों को ऐसे दी गई श्रद्धांजलि।

15 जून की रात लद्दाख की गलवान घाटी में LAC पर चीन और भारत की सेना में हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। इस झड़प में शहीद हुए जवानों को वाराणसी के दशाश्वमेध घाट पर श्रद्धांजलि दी गई। बता दें, मां गंगा की सांकेतिक आरती से पहले दशाश्वमेध घाट 501 दीप जलाकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। घाट पर 501 दीपों से वीर सपूतों को शत-शत नमन लिखने के साथ ही दो मिनट का मौन रख भावभीन श्रद्धांजलि दी गई।

सैनिक मारते-मारते मरे हैं- पीएम मोदी

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन सीमा पर शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उन्होंने कहा, “मैं देश को भरोसा देता हूं कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा”। इसके अलावा उन्होंने कहा, “सैनिक मारते-मारते मरे हैं”।

गौरतलब है कि 15 जून की रात लद्दाख की गलवान घाटी में LAC पर चीन और भारत की सेना में हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। कहा ये भी जा रहा है की इस घटना में चीन के करीब 40 जवान हताहत हुए हैं। हालांकि अभी तक चीन की ओर से आधिकारिक तौर पर कोई संख्या नहीं बताई गई है। इसके अलावा चीन ने भारत पर ही कार्रवाई का आरोप मढ़ा है। भारत की ओर से साफ तौर पर कहा है कि ये पूरी घटना चीन की हिमाकत का नतीजा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here