Sucess Step

आचार्य चाणक्य ने व्यक्ति को जीवन में सफल होने के लिए कई बातें बताई हैं। उनकी एक नीति में सफलता को पाने का मंत्र छुपा है।

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई सफलता प्राप्त करने के लिए मेहनत करता है। चाहे वह स्कूल का बच्चा हो या ऑफिस हर कोई सफल होने के लिए कड़ी मेहनत कर फिर ऑफिस का कोई इम्प्लॉय, सभी अपने काम को बेहतर बनाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। लेकिन बहुत से लोग मेहनत करने के बावजूद सफल नहीं हो पाते। ऐसे में चाणक्य ने चाणक्य नीति के छठे अध्याय में एक श्लोक के माध्यम से कामयाबी के मंत्र के बारे में जानकारी दी है। जिनका अनुसरण करके व्यक्ति सफलता प्राप्त कर सकता है।

चाणक्य नीति: घर में नहीं टिकते पैसे तो बस कर लें…

प्रभूतंकार्यमल्पंवातन्नरः कर्तुमिच्छति।

सर्वारंभेणतत्कार्यं सिंहादेकंप्रचक्षते॥

  • इस लोक में चाणक्य ने बताया है कि मनुष्य को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए शेर की तरह शिकार करना आना चाहिए जैसे कि कोई शेर शिकार करते वक्त अपने लक्ष्य पर फोकस करता है व्यक्ति को भी उसी प्रकार अपने लक्ष्य के प्रति एकाग्र होना चाहिए। ऐसे में व्यक्ति कभी नहीं हारता।
  • चाणक्य के मुताबिक अपने लक्ष्य के प्रति एकाग्र होना जरूरी है इसके साथ ही सही समय पर आगे बढ़ना चाहिए। ध्यान केंद्रित करके पूरा प्रयास करना चाहिए। ऐसे में नाकामयाब होने की संभावना ना के बराबर हो जाती है।

शादीशुदा जीवन को खत्म कर देती हैं ये 6 आदतें, आप…

  • चाणक्य के मुताबिक, काम छोटा हो या फिर बड़ा व्यक्ति को उसे पूरी मेहनत और लगन के साथ करना चाहिए। सफलता के लिए शुरू से ही व्यक्ति को शक्ति लगानी चाहिए ताकि उसके आगे की डगर आसान हो जाए जैसे शेर अपने शिकार पर लपकते ही उसे भागने का मौका नहीं देता ऐसे ही व्यक्ति को भी अपने उस मौके को हाथ से नहीं गंवाना चाहिए।
  • किसी भी काम के प्रति व्यक्ति को ऊर्जावान रहना चाहिए। यानि किसी भी काम को करते वक्त आपके अंदर ऊर्जा होनी चाहिए अगर आप निराशा या फिर ढीलेपन से काम करते हैं तो आपकी कामयाबी आपसे कोसों दूर चले जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here