Sleeping

अगर आपको भी पेट के बल सोने के आदत है तो संभल जाइए। ये आपके लिए काफी खतरनाक है।

कई लोगों को उल्टा लेकर सोने की आदत होती है। ऐसे लोगों को लगता है कि इन्हें अच्छी और गहरी नींद केवल उल्टा लेटकर ही आती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं ऐसा करके आप अपने शरीर को नुकसान पहुंचा रहे हैं। इस तरह के लोग अक्सर किसी न किसी तरह दर्द से घिरे रहते हैं। तो चलिए जानते हैं। उल्टा सोने से क्या है नुकसान।

इन 5 काम को करने के बाद तुरंत कभी ना नहाए, हो जाएंगे बीमार

सिर में भारीपन रहने की शिकायत

  • कई लोगों को सुबह उठने के बाद सिर में दर्द की शिकायत रहती है जबकि कुछ लोगों का तो यह पूरे दिन सिर में भारीपन की शिकायत रहती है। ऐसा पेट के बल सोने के कारण भी होता है।
  • कारण- दरअसल जब हम पेट के बल तकिए पर सिर रखकर सोते हैं तो हमारी गर्दन पीछे की तरफ झुक जाती है इससे दिमाग में होने वाला ब्लड सरकुलेशन प्रभावित होता है।
  • इससे सिर में एक तरह का वैक्यूम (खालीपन) और तनाव पैदा होने लगता है जिसके कारण सिरदर्द और भारीपन की शिकायत होने लगती है।

कमर दर्द

  • जो लोग लंबे समय तक पेट के बल सोते हैं उन्हें कमर दर्द की शिकायत रहने लगती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पेट के बल सोने से हमारी रीड की हड्डी की नेचुरल शेप बिगड़ जाती है।
  • कारण- गलत तरीके से सोने से ज्यादा दबाव झेलने के कारण एक समय बाद कमर में दर्द की शिकायत होने लगती है। यह दर्द कमर के किसी भी हिस्से में शुरू हो सकता है।

कब्ज की समस्या

  • पेट के बल सोने वाले लोगों को अक्सर का पेट में दर्द, कब्ज, अपच की शिकायत रहती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उल्टा सोने से पेट पर ज्यादा दबाव पड़ता है और भोजन का पाचन सही तरीके से नहीं हो पाता।

वायु संबंधी विकार

  • पेट के बल सोने से वायु का संचार भी प्रभावित होता है। इसे शरीर के किसी भी अंग में दर्द की समस्या अक्सर बनी रहती है।
  • कारण- उल्टा सोने से भोजन के पाचन के समय उत्सर्जित होने वाली गैस शरीर के बाहर नहीं निकल पाती जिससे आमतौर पर शरीर के जोड़ों और पिंडलियों में दर्द की समस्या रहती है।

यह भी है एक कारण

  • पेट में कीड़े होना भी इसके कारण हो सकता है। अगर आप भी सोते-सोते कब पेट के बल सो जाते है ये आपको पता नहीं चलता तो आपके पेट में कीड़े हो सकते हैं।
  • अक्सर जिन लोगों को पेट में कीड़े होने की समस्याएं होती है वह भी पेट के बल सोते हैं और सोते समय उनके मुंह से लार (सलाइवा) टपकता रहता है। जब यह लोग सो कर उठते हैं तो इनके होठ के नीचे साइड में लार का निशान बना होता है या फिर इनके तकिए में गीलापन रहता है।

बच्चों पर पड़ता है ऐसा असर

  • एक्सपोर्ट का मानना है कि जिन बच्चों को पेट के बल सोने की आदत होती है अक्सर उनकी हाइट सामान्य से कम रहती है। ये बच्चे दूसरों की तुलना में कम लंबाई के होते हैं।
  • पेट के बल सोने से बचे के दिमागी विकास पर भी बुरा असर पड़ता है और कम उम्र में ही बच्चा पेट से जुड़ी परेशानियों से घिरा रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here