ओडिशा के गांव में लोगों में न सिर्फ मगरमच्छ को पकड़ा बल्कि उसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर गांव में बांटा भी।

क्या आप किसी मगरमच्छ को खा सकते हैं…क्या आपने किसी को मगरमच्छ खाते हुए देखा है….शायद नहीं, लेकिन कुछ ऐसी ही घटना सामने आई है ओडिशा के गांव से। जहां लोगों में न सिर्फ मगरमच्छ को पकड़ा बल्कि उसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर गांव में बांटा भी।

बता दें, ये पूरा मामला मलकानगिरी जिले का है। जब इस हैरान कर देने वाली घटना की तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आई तो वन विभाग और प्रशासन हरकत में आया। वहीं वन विभाग के अधिकारी अब मगरमच्छ को मौत के घाट उतारने वाले लोगों की तलाश में जुट गए हैं।

स्थानीय सूत्रो की माने तो कलडापल्ली गांव के पोडिया ब्लॉक के पास साबेरी नदी है जहाँ से कुछ ग्रामीणों ने पहले तो एक 10 फीट लंबे मगरमच्छ को पकड़ा और गांव में ले आए। इसके बाद उन्होंने इसे आपने काबू में लिया और उसे रस्सी से बांधकर गांव ले आए।

इतना ही नहीं बाद में इन लोगों ने मगरमच्छ को पेड़ से उल्टा लटकाकर धारदार हथियार से मौत के घाट उतार दिया। वहीं जब गांव वालों का नहीं भरा उन्होंने मगरमच्छ के पंजे काटे और फिर उसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर सारे गांव वालों में बांट दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक, मगरमच्छ को इसलिए मारा गया क्योंकि वो कई बार गांव में घुस आता था और उनकी गाय-बकरियों को खा जाता था। इसके अलावा कई बार तो मगरमच्छ ने ग्रामीणों पर हमला तक किया है।

मलकानगिरी के डिस्ट्रिक्ट फॉरेस्ट ऑफिसर प्रदीप देबीदास ने इस मामले पर कहा कि कुछ ग्रामीणों द्वारा जब मगरमच्छ के शिकार करने और उसे खाने की खबर मिली तो हमने रेंजर स्टाफ को कलडापल्ली गांव में भेजा लेकिन उन्हें मगरमच्छ के बॉडी पार्ट्स नहीं मिले। हम तीन टीम बनाकर मगरमच्छ का शिकार करने वाले लोगों की तलाश कर रहे हैं। जल्द ही हम उन्हें पकड़ लेंगे।

खबर लिखे जाने तक वन विभाग किसी को गिरफ्तार नहीं कर पाया है। फिलहाल फोटो के आधार पर आरोपियों की तलाश की जा रही है। बता दें कि मलकानगिरी नक्सल प्रभावित आदिवासी इलाकों में आता है। इसके पहले भी यहां इस तरह की घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here