Rajasthan board exam

राजस्थान बोर्ड की बची हुई परीक्षाओं का आयोजन जल्द ही किया जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने परीक्षाओं को लेकर कई निर्देश दिए हैं।

राजस्थान बोर्ड की शेष बची हुई परीक्षाओं का आयोजन जल्द ही हो सकता है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इन परीक्षाओं को लेकर उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। ताकि इस महामारी के कारण किसी छात्र को परेशानी न हो। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ”कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा जो COVID-19 के कारण स्थगित हुई थी, अब आयोजित की जाएगी. राज्य शिक्षा विभाग परीक्षा आयोजित करने के लिए उचित व्यवस्था करेगा.”

DU में जल्द एडमिशन, जारी हुआ अस्थायी शेड्यूल

सीएम गहलोत ने कहा, कोरोना वायरस के कारण स्थगित हुई 10वीं और 12वीं क्लासिस की अलग-अलग विषयों की बोर्ड परीक्षाएं कराने का फैसला लिया गया है, इसके लिए अधिकारियों को शिक्षा विभाग के समुचित व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए हैं।

जिन परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा आयोजित होंगी वहां परीक्षार्थियों और अध्यापकों द्वारा मास्क तथा सैनिटाइजर का प्रयोग अनिवार्यता के साथ सुनिश्चित किया जाएगा साथ ही, विद्यार्थियों के परीक्षा केन्द्र पर आने-जाने और परीक्षा के दौरान सोशल डिस्टेसिंग के नियम का कड़ाई से पालन कराया जाएगा।

अशोक गहलोत ने कहा की जरूरत के मुताबिक, परीक्षा केंद्रों की संख्या को बढ़ाया जा सकता है और जिन्हें स्कूल भवनों में क्वारनटीन सुविधाएं चलाई जा रही है। उन भवनों को पहले परीक्षा के प्रोटोकॉल के अनुसार सैनिटाइज किया जाएगा और वहां स्वास्थ्य सुरक्षा मानको की भी पूरी व्यवस्था की जाएगी।

आपको बता दें कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए राजस्थान सरकार ने 19 मार्च को बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी थी। राज्य के शिक्षा मंत्री मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा, “परीक्षा के शुरू होने से 10 दिन पहले तारीखें जारी कर दी जाएंगी. ऐसी संभावना जताई जा रही है कि बची हुई परीक्षा जून के पहले हफ्ते में आयोजित की जा सकती है”। बता दें, राज्य बोर्ड की कक्षा 10 की परीक्षा की सिर्फ तीन पेपर्स बचे हैं, वहीं क्लास 12वीं की गणित, अंग्रेजी, हिंदी, भूगोल समेत कई विषयों की परीक्षा शेष है।

गौरतलब है कि, राज्य बोर्ड की जो परीक्षाएं पूरी हो चुकी हैं, उनकी उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य चल रहा है। शिक्षक घर से ही उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य कर रहे हैं। इस प्रक्रिया के पूरा होने के चार से 6 हफ्ते के अंदर नतीजे घोषित किए जाएंगे। ध्यान हो, करीब एक महीने का वक्त बोर्ड परीक्षा की प्रक्रिया को पूरा करने में लगेगा। शिक्षा मंत्री ने कहा, “यदि बोर्ड परीक्षा जून-अंत या जुलाई में समाप्त होती है, तो परिणाम अगस्त में आने की उम्मीद की जा सकती है”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here