gujrat coronavirus

गुजरात में कैदियों ने एक मिसाल पेश करते हुए कोरोना से जंग के लिए सीएम राहत कोष में इतनी बड़ी रकम दान की है।

चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस से लड़ने के लिए देश के बड़े व्यापारी, सामाजिक संगठन, बड़ी कंपनियों के साथ ही कई बॉलीवुड सेलिब्रिटीज भी पीएम और सीएम राहत कोष में मदद का हाथ बढ़ा रहे हैं। इसी क्रम में खेल जगत के कई खिलाड़ियों ने भी सहायता की है तो वहीं अब कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में गुजरात के सूरत में मौजूद लाजपोर जेल के कैदियों ने भी अपना सहयोग दिया है।

कैदियों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में अपने पारिश्रमिक के 1 लाख 11 हजार 111 रुपये जमा कर देश में मिसाल कायम की है। वहीं इस सहायता के बाद सूरत की लाजपोर जेल ऐसी पहली ऐसी जेल बन गई है जहां के कैदियों ने अपनी मेहनताना से जोड़े पैसों को मुख्यमंत्री राहत कोष में दान दिया है।

लॉकडाउन के दौरान बाहर बाइक लेकर निकला शख्स तो पुलिस ने दी ऐसी अनोखी…

लाजपोर जेल अधीक्षक मनोज निनामा का कहना है कि जेल में बंद कैदियों ने उनके सामने एक प्रस्ताव रखा था जिसमें उन्होंने इस संकट के दौर में देश की मदद करने की अपनी इच्छा जाहिर की थी। उसके बाद जेल अधीक्षक ने कहा कि कैदियों की मदद करने की भावना को काफी सराहा जा रहा है।

लॉकडाउन: इस ऐप की सहायता से घर बैठे अपनी फसल बेच सकेंगे किसान

मनोज निनामा ने कहा कि दुनिया में फैली इस महामारी से लड़ाई में कैदी भी अपना समर्थन जता रहे हैं क्योंकि वह भी समाज का एक अभिन्न हिस्सा है, भले ही वह जेल में बंद क्यों ना हों। वहीं आगे उन्होंने कहा कि जेल में बंद कैदियों ने इस वक्त जो देश की मदद कर मिसाल पैदा की है वह दूसरे और लोगों को ऐसी मिसाल पैदा करने में प्रोत्साहित जरूर करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here