भारत से झटका मिलने के बाद अब अमेरिका भी चीन को झटका देने वाला है। माना जा रहा है अमेरिका भी चीनी ऐप्स को अपने यहाँ बैन कर सकता है।

लद्दाख पर हमले के बाद से भारत ने चीन पर निगाहें टेढ़ी कर ली है। लगातार चीन भारत के निशाने पर है। अभी हाल ही में भारत में चीन को बड़ा झटका देते हुए उसके 59 ऐप्स को बैन कर दिया था। इस बीच अब अमेरिका भी अपने देश में चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का विचार कर रहा है। बता दें, अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो (Mike Pompeo) ने एक इंटरव्यू के दौरान यह कहा कि वह चीनी ऐप जैसे Tik Tok (टिक टॉक) और और दूसरे सोशल मीडिया ऐप्स को बंद करने पर विचार कर रहे हैं।

माइक पॉम्पियो ने कहा, “आखिरी फैसला राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लेना है, लेकिन मैं इतना जरूर कह सकता हूं कि हम चीनी ऐप्स पर बैन लगाने पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं”.

आपको बता दें, भारत सरकार ने लद्दाख हिंसा घटने के बाद टिक टॉक समेत 59 चाइनीस ऐप को देश में बैन कर दिया था। इस झटके के बाद अगर अमेरिका भी चीन के ऐप्स पर रोक लगा देता है तो यह चीन को दूसरा झटका होगा।

ऑस्ट्रेलिया में भी उठा सकता है कदम

खबरों की माने तो America (अमेरिका) ही नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया भी चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा सकता है। बता दें, भारत चीन को आर्थिक मोर्चे पर तोड़ना चाहता है। ऐसे में सरकार द्वारा चीनी ऐप्स के साथ ही कई जरूरी कदम भी उठाए गए हैं। एक रिपोर्ट की मानें तो टिक टॉक के बैन होने से चीनी कंपनी को करीब 6 अरब डॉलर का घाटा हुआ होगा।

दूसरा सबसे बड़ा बाजार

अमेरिका TikTok का दूसरा बड़ा बाजार है। वहां टिकटॉक के 4.54 करोड़ यूजर हैं जबकि भारत में करीब 20 करोड़ यूजर थे। ऐसे में अगर अमेरिकी प्रशासन भारत की तरह इस पर बैन लगा देता है, तो चीन को तगड़ा झटका लगेगा। भारत सरकार की तरफ से कहा गया था कि बैन किये गए चीनी ऐप के जरिये उपयोगकर्ताओं की जानकारियां हासिल की जा रही थी और ये देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन गए थे। इस कार्रवाई के बाद से TikTok द्वारा लगातार सफाई पेश की जा रही है। उसका कहना है कि भारतीय यूजर्स का डेटा सिंगापुर के सर्वर में सेव होता है। चीन की सरकार ने ना तो कभी डेटा की मांग की है और ना ही कंपनी इस अनुरोध को कभी पूरा करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here