Vaccine

दुनिया के कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के बीच डब्ल्यूएचओ के चीफ मेडिकल ऑफिसर का जो बयान सामने आया है वह काफी निराशा पैदा करने वाला है।

कोरोना वायरस ऐसी महामारी बन चुका है जिसका कोई तोड़ नहीं है। दुनिया के बहुत से देश इस वायरस की रोकथाम की वैक्सीन बनाने में जुटे हैं लेकिन किसी को सफलता नहीं मिल रही। इस बीच WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के चीफ मेडिकल ऑफिसर का ऐसा बयान आया है जो लोगों को काफी निराश कर सकता है। दरअसल, उन्होंने एक टीवी इंटरव्यू के दौरान यह बात कही है कोरोना वायरस के लिए फिलहाल कोई वैक्सीन तैयार नहीं होने वाली। डब्ल्यूएचओ के कोरोना वायरस स्पेशल एनवॉय टीम के डॉक्टर डेविड नेबैरो बताया है, “हमें उन बातों पर यकीन नहीं करना चाहिए जिनमें इस बात का दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार हो चुकी है।”

कोरोना वायरस का ये है नया लक्षण, WHO ने दी चेतावनी

उन्होंने आगे कहा, “यह अभी मुमकिन भी नहीं है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार होने के बाद यह कुछ ही महीनों में पूरी दुनिया के लोगों पर सही तरीके से काम कर सके और पीड़ितों को संक्रमण से बचा सके। उन्होंने कहा कि है एचआईवी एड्स की तरह ही हमारे बीच रह सकता है और हमें अपनी आदतों में सुधार करना पड़ेगा तभी हम इसकी चपेट में आने से बचे रह सकते हैं।”

हालांकि, डॉक्टर डेविड नेबैरो ने उम्मीद भी जताई है कि वायरस की दवा बन भी सकती है लेकिन अभी उसमें काफी लंबा समय लगेगा। नेबैरो का मानना है कि अगर फिलहाल के प्रयासों को देखा जाए तो यह काफी हद तक नामुमकिन सा दिखाई दे रहा है। आयरलैंड के डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ के डिप्टी चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ रोनन ग्लिन का भी नेबैरो जैसा ही बयान आया है, “हम फिलहाल आने वाले लंबे समय तक कोरोना वायरस के साथ ही जीने वाले हैं और यह कब तक चलेगा, यह कहना मुश्किल है।”

कोरोना संकट: इस देश में बड़ा 1 जून तक लॉक डाउन

गौरतलब है कि जब तक कोरोना वायरस की वैक्सीन नहीं बन जाती तब तक सभी के लिए सावधानियों को बरतना जरूरी है। भारत में लॉक डाउन 4.0 लागू होने के बाद मिली ढील संक्रमण के खतरे को और बढ़ा सकती है। ऐसे में अपनी सेहत का खास ख्याल रखें और जितना हो सके सेफ्टी टिप्स को फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here