गाजियाबाद की डासना जेल में कैदियों के लिए एक अच्छी पहल की शुरुआत की गई है। दरसअल, हॉटलाइन शुरू की गई है। जिसके जरिए कैदी मुलाकातियों से बात कर सकेंगे।

गाजियाबाद की डासना जेल में कैदियों के लिए एक नई पहल शुरू की गई है। दरसअल, कोरोना वायरस के संकमण को देखते हुए जेल में बंद कैदियों से किसी से मुलाकात संभव नहीं हो पा रही थी। ऐसे में इसे देखते हुए अब गाजियाबाद की डासना जेल को हाइटेक बनाया गया है। बता दें, जेल में कैदियों के लिए हॉटलाइन 121 की शुरुआत की गई है।

इस सेवा की शुरुआत डीजी जेल आनंद कुमार और डीआईजी जेल मेरठ मंडल लव कुमार ने की। इस सेवा के शुरू होने के बाद अब कैदी अपने परिजनों से बात कर सकेंगे और साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का अनुपालन भी सुनिश्चित हो सकेगा।

डीजी जेल आनंद कुमार का कहना है कि जेल में मुलाकात के वक्त 39 हॉटलाइन टेलीफोन लगाकर वन टू वन सेवा की शुरुआत की गई है। जिसके जरिए अब जेल में बंद बंदियों से मिलने आए लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कैदी से मिल सकेंगे और आमने-सामने रहते हुए आपस मे बात भी कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here