buddhist

गिलगित-बाल्टिस्तान में एक बौद्ध स्मारक पर तोड़फोड़ किए जाने का मामला सामने आया है। इस मामले के सामने आने के बाद भारत ने इस पर नाराजगी जाहिर की है।

गिलगित-बाल्टिस्तान में एक बौद्ध स्मारक पर तोड़फोड़ किए जाने की खबर प्रकाश में आने के बाद भारत ने इसके खिलाफ कड़ी नाराजगी जताई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने पाकिस्तान को कहा कि प्राचीन सभ्यता और सांस्कृतिक धरोहरों पर हो रहे हमलों को रोके।

एश‍िया यूनिवर्सिटी रैंकिंग के टॉप 100 में भारत के इतने संस्थानों ने जमाया कब्जा

श्रीवास्तव ने बताया भारतीय बौद्ध स्मारक पर हुईं तोड़फोड़ और मूर्तियों को नुकसान पहुंचाने के मामले पर पाकिस्तान के सामने इस चिंता जताई गई है। विदेश मंत्रालय का कहना है कि उन्होंने यह भी कहा है कि पाकिस्तान जितनी जल्द हो सके उस इलाके को खाली करें।

अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, “यह गंभीर चिंता का विषय है कि बौद्ध प्रतीकों को नष्ट किया जा रहा है और पाकिस्तान के अवैध कब्जे के तहत भारतीय क्षेत्रों में धार्मिक और सांस्कृतिक अधिकारों व स्वतंत्रता पर हमले हो रहे हैं. ऐसी गतिविधियां जो प्राचीन सभ्यता और सांस्कृतिक विरासत के लिए बेकद्री दर्शाती हैं, काफी निंदनीय हैं”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here