Manohar Lal Khattar

लॉक डाउन के कारण हरियाणा के युवाओं की नौकरी को लेकर चिंतित राज्य सरकार एक पोर्टल की शुरुआत करने का विचार बना रही है जिससे कि युवाओं को रोजगार मिल सकें।

ज्यादातर लोगों को लॉक डाउन के बाद क्या होगा उन्हें नौकरी मिलेगी या नहीं इसकी चिंता सता रही है। अगर आप भी उन्हीं में से एक हैं और अपनी नौकरी को लेकर चिंतत है तो परेशान न हो। दरअसल, हरियाणा सरकार ऐसे पोर्टल की शुरूआत कर रही है जिससे युवाओं को नौकरी मिल सके। शनिवार को हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए हरियाणा सरकार जल्द ही जॉब पोर्टल शुरू करने वाली है।

केंद्र सरकार के ऐलान से पहले इन 3 राज्यों में लगा लॉक डाउन 3.0…

उन्होंने बताया कि एमएनसी और अन्य कंपनियों को इस पोर्टल के जरिए फायदा मिलेगा क्योंकि वह अपने उद्योगों के लिए योग्य और प्रशिक्षित कर्मचारियों का चुनाव कर सकेंगे। उन्होंने, श्रम और रोजगार उद्योग और वाणिज्य कौशल विकास और उद्योग, प्रशिक्षण समेत अलग-अलग विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसके बाद ये फैसला लिया गया।

हालांकि अभी इसे लेकर जानकारी नहीं दी गई है कि इस जॉब पोर्टल की शुरुआत कब की जाएगी। अगर इस पोर्टल की शुरुआत लॉक डाउन खत्म होने के बाद शुरू होती है तो ऐसे में युवाओं को इसका फायदा जरूर मिलेगा।

कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र ने उठाया ये बड़ा कदम

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार गांव में करीब 500 एकड़ की खाली भूमि पर उद्योग संचालन की इजाजत देने पर सोच विचार कर रही है जिससे कि युवाओं को ज्यादा रोजगार के अवसर दिए जा सकें। वहीं, इंडस्ट्री में काम करने के लिए 30 लाख लोग तैयार है क्योंकि यूनिट ने धीरे-धीरे अपने काम शुरू कर दिए हैं।

चौटाला ने बताया कि नौकरी पोर्टल के माध्यम के जरिए कंपनियों को नौकरी के आवेदकों और श्रम का विवरण दिया जाएगा। कंपनियां भी इस पोर्टल पर नौकरी के लिए अपनी आवश्यकताओं को रख सकती है जिससे की ज्यादा से ज्यादा युवा नौकरी के लिए आवेदन कर सकें।

दुष्यंत चौटाला ने बताया कि राज्य में सेना और पुलिस भर्ती के लिए भी बड़ी संख्या में युवा अप्लाई कर सकते हैं और जब तक नौकरी नहीं मिलती तब तक वो किसी निजी कंपनी में काम कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here