SBI

SBI के ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी है। दरअसल, SBI 10 जून से एक नया नियम लागू करने जा रहा है जिससे ग्राहकों को फायदा होगा।

SBI (भारतीय स्टेट बैंक) के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर है। बता दें, SBI 10 जून से एक नया नियम लागू करने जा रहा है जिससे करोड़ों ग्राहकों को फायदा होगा। चलिए बताते हैं आपको इसके बारे में…

सरकारी नौकरी: राजस्थान में 4500 पदों पर वेकैंसी, ये रही पूरी डिटेल्स

दरअसल, 10 जून से SBI अपनी कोष की MCLR (सीमांत लागत आधारित ब्याज दर) में 0.25 प्रतिशत की कटौती करने जा रहा है। इस फैसले के बाद एक वर्ष की अवधि की एमसीएलआर दर 7.25 प्रतिशत से कम होकर 7 प्रतिशत हो गई है।

  • लगातार 13वीं बार एमसीएलआर दर में कटौती

बैंक की ओर से लगातार 13वीं बार MCLR (सीमांत लागत आधारित ब्याज दर) में कटौती की गई है। इससे पहले SBI ने बाहरी बेंचमार्क से जुड़ी ब्‍याज दर (EBR) को 7.05 प्रतिशत से कम करते हुए 6.65 प्रतिशत सालाना किया था। इसके अलावा रेपो दर से जुड़ी ब्याज दर को 6.65% से कम करते हुए 6.25 प्रतिशत किया गया है। हालांकि ये नई दरें जुलाई में अमल में ली जाएंगी।

  • ग्राहकों को होगी इतनी राहत

बैंक की ओर से एक बयान में ये कहा गया है, ‘‘एमसीएलआर दर से जुड़े होम लोन की समान मासिक किस्त की राशि में 421 रुपये की कमी आएगी. वहीं ईबीआर, आरएलएलआर से जुड़े होम लोन की मासिक किस्त में 660 रुपये की कमी आएगी. यह कैल्‍कुलेशन 30 साल की अवधि के 25 लाख रुपये तक के होम लोन पर की गई है. ’’

गौरतलब है कि इस महामारी (कोरोना संकट) काल में लोन बांटने पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है। बैंकों को इसके लिए RBI (केंद्रीय रिजर्व बैंक) की ओर से प्रोत्‍साहित भी किया जा रहा है। यही कारण है की रिजर्व बैंक ने लॉकडाउन में दो बार रेपो रेट में कमी की है।

ध्यान हो, वर्तमान में रेपो रेट अब तक का सबसे निचले स्‍तर 4 फीसदी पर है। इसके अलावा RBI ने बैंकों से इसका फायदा कॉस्टमर्स तक पहुंचाने को कहा है। बता दें, रेपो रेट वो दर है जिस पर आरबीआई, बैंकों को फंड मुहैया कराता है। इससे बैंकों के पास नकदी का इंतजाम होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here