बिल्ली के बच्चे को नाबालिग लड़की के परिवार द्वारा खरीदा गया था जिसके बाद उसे घर लाया गया।

पाकिस्तान को आतंकिस्तान ऐसे ही नहीं कहा जाता। पाकिस्तान अपनी हरकतों और चाल साजों के लिए जाना जाता है। पाकिस्तान न सिर्फ आतंकियों और दहशतगदों को अपने यहां पनाह देता है बल्कि पाकिस्तान में कुछ ऐसे लोग भरे हुए हैं जिनके अंदर रहम शायद बची नहीं है। ये लोग बेजुबान जानवरों के साथ क्रूरता भरी हरकत करने से भी बाज नहीं आते। पाकिस्तान के लाहौर से एक बार फिर पशु क्रूरता की एक ऐसी ही घटना सामने आई है। इसे देखने के बाद मानवता शर्मसार हो रही है। यहां लाहौर में एक 15 साल के लड़के और उसके दोस्तों ने कथित रूप से बिल्ली के बच्चे से क्रूरता पूर्वक सामूहिक बलात्कार किया। इतना ही नहीं उस बिल्ली के बच्चे से लगभग 1 हफ्ते तक इस घटना को दोहराया गया जिसके बाद उस बच्चे की मौत हो गई।

बिल्ली के बच्चे के साथ हुई हैवानियत का मामला तब सामने आया जब एक पशु अधिकार संगठन जेएफके एनिमल रेस्क्यू एंड शेल्टर ने इस घटना की जानकारी फेसबुक हैंडल पर शेयर की और लोगों को इन नाबालिक किशोरों के अपराध के बारे में बताया।

इस संगठन के फेसबुक पोस्ट के अनुसार, इस बिल्ली के बच्चे को नाबालिग लड़की के परिवार द्वारा खरीदा गया था जिसके बाद उसे घर लाया गया। घर लाने के बाद नाबालिग और उसके दोस्तों ने ही इस बिल्ली के बच्चे के साथ सामूहिक बलात्कार किया जिसके बाद उस बिल्ली के आंतरिक अंग क्षतिग्रस्त हो गए।

उस घायल बिल्ली के बच्चे के घाव से खून बह रहा था। जेएफके एनिमल रेस्क्यू एंड शेल्टर ने बताया, “वह चल नहीं सकता था, वह खा नहीं सकता था, वह बैठ नहीं सकता था, वह दर्द के कारण कभी सो नहीं पाता था.

वहीं, जब उसे इलाज के लिए पशु चिकित्सक के पास ले जाया गया तो उसके आंतरिक अंगों में बहुत सारे शुक्राणु और रक्त निकला। संगठन ने बताया कि उस बिल्ली के बच्चे की “भयानक स्थिति” को देखने के बाद उसी इलाके की एक लड़की ने उन नाबालिग आरोपियों से बिल्ली के बच्चे को सौंपने के लिए कहा लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया।

हालांकि जब उस बिल्ली के बच्चे को इलाज के लिए पशु चिकित्सक के पास ले जाया गया तो उसे बचाया नहीं जा सका। पशु अधिकार संगठन ने कहा, “बिल्ली के बच्चे को दफनाया गया है और निश्चित रूप से वो अब ईश्वर के पास होगा”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here