Fastag

सरकार ने फास्टैग के नियमों में बदलाव कर दिया है जिसके बाद अगर आपकी गाड़ी में फास्टैग लगा भी है तब भी आपको नेशनल हाईवे पर दोगुना जुर्माना भरना पड़ सकता है।

अगर आपने अपने किसी वाहन पर फास्टैग (Fastag Rule Lockdown 4.0) लगाया है और उस पर रिचार्ज नहीं कराया है सबसे पहले अपना रिचार्ज करा लीजिए वरना आपको दोगुना जुर्माना भरना पड़ सकता है। बता दें, सरकार ने यह फैसला लिया है कि अगए किसी वाहन पर फास्टैग ठीक से काम नहीं कर रहा है या फिर उसमें रिचार्ज पूरा नहीं है और बावजूद इसके वह व्यक्ति अपने वाहन को टोल प्लाजा पर फास्ट लेन में घुसाता है तो उस वाहन से जुर्माना वसूला जाएगा। ये जुर्माना उस वाहन पर लगने वाले टोल फीस का दोगुना होगा। इसे लेकर केंद्र सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है जो 15 मई 2020 से ही देश में लागू हो गई है।

जानें लॉक डाउन 4.0 में किसे कितनी राहत

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के एक अधिकारी का ‘फास्टैग तो लगवा लिया, लेकिन रिचार्ज कराना भूल गए’ पर ये कहना है कि फास्टैग की अनिवार्यता को कई महीने बीत चुके हैं लेकिन बावजूद इसके लोग इसे सीरियसली नहीं ले रहे। ऐसे ढेरों मामले सामने आ रहे हैं जहां कार या फिर अन्य वाहन पर फास्ट्रेक लगा है लेकिन उसमें रिचार्ज नहीं है।

ऐसे में लोग जब फास्टैग लेन में घुस जाते हैं और फिर नकद टोल चुकाते हैं। ऐसा करने से बेवजह की देरी होती है और फास्टैग लेन में भी लंबी-लंबी लाइनों का नजारा देखने को मिलता है।

कई बार तो ऐसे मामले सामने आए हैं जहां फास्टैग खराब हो गए हैं उन्हें मोड़ दिया गया हैं, तो कई मामलों में उनका सर्किट ब्रेक हो गया है। ऐसे में फास्टैग ठीक से काम नहीं करते। अगर अब ऐसा पाया जाएगा तो भी वाहन चालक को दोगुना जुर्माना देना होगा।

घरेलू उड़ानें के शुरू होने का इंतजार कर रहे लोगों के लिए बड़ी खबर

  • लंबी लाइनों से राहत के लिए आया है फास्टैग

बता दें, बीते 15 दिसंबर 2019 से नेशनल हाइवे पर स्थित टोल प्लाजा पर लंबी लाइन से बचने के लिए इलेक्ट्रोनिक टोल प्रणाली को लागू किया गया था। लेकिन जरूर के मुताबिक फास्टैग उपलब्ध नहीं होने के कारण इसे अनिवार्य करने में 15 जनवरी 2020 और उसके बाद 15 फरवरी तथा कुछ इलाकों में 28 फरवरी 2020 तक की माेहलत दी गई थी। इस प्रणाली को लागू करने का एक कारण ई पेमेंट को बढ़ावा देना भी है।

  • हर टोल पर है एक कैश लेन की सुविधा

देश की सभी टोल प्लाजा पर एक फास्टैग लेन तो है ही इसके साथ ही टोल वसूली के लिए एक कैश लेन की सुविधा भी है।

गौरतलब है कि पिछले साल 15 दिसंबर से देश के सभी टोल टैक्स बूथों पर फास्टैग को अनिवार्य किया गया है। इसके तहत टोल टैक्स बूथों पर अगर आपके वाहन में टैग नहीं पाया जाता है और गलती से आप इस लाइन में घुस जाते हैं तो आपको टोल टैक्स का दुगना भुगतान करना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here