1 अप्रैल यानी बुधवार को अष्टमी मनाई जा रही है लेकिन इस पूजा के दिन ये 8 सावधानियां बरतना जरूरी है।

नवरात्रि का आठवां दिन मां महागौरी को समर्पित है। मां महागौरी की पूजा अर्चना से जीवन की सभी परेशानियां दूर हो सकती है। अष्टमी 1 अप्रैल यानी बुधवार को मनाई जा रही है लेकिन इस पूजा के समय भक्तों को कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। तो चलिए आपको बताते हैं क्या है वो 8 सावधानियां जिसे मां महागौरी की पूजा-अर्चना के समय खास ध्यान रखना चाहिए।

1. नवरात्रि में अष्टमी पूजन का विशेष महत्व होता है इस दिन शुभ मुहूर्त को ध्यान में रखकर ही पूजा-पाठ करें। मुहूर्त बीत जाने के बाद पूजा-पाठ का कोई महत्व नहीं रह जाता।

2. दुर्गा पूजा के लिए संधि काल का समय काफी शुभ माना जाता है। संधि काल में 108 दीपक जलाएं। अष्टमी के दिन संधिकाल में ही दीपकओं को प्रज्वलित करना शुभ होता है।

3. विष्णु पुराण के मुताबिक, अष्टमी पर पूजा के बाद दिन में नहीं सोना अशुभ माना जाता है।

4. दुर्गा चालीसा, मंत्र या सप्तशती के पाठ के दौरान किसी अन्य से बात करें। ऐसा करने से पूजा का फल नकारात्मक शक्तियों को मिल जाता है।

5. ध्यान रहे अगर अखंड ज्योति जला रहें हैं तो घर खाली छोड़ कर कहीं ना जाएं। हवन कर रहे हैं तो उसकी सामग्री कौन से बाहर ना गिरे।

6. अष्टमी के दिन अगर व्रत नहीं कर रहे हैं तो सुबह- सुबह स्नान करें। अष्टमी के दिन फल हमेशा एक जगह पर बैठकर खाना चाहिए खाने चाहिए।

7. अष्टमी से लेकर नवमी तक मांस या मदिरा-पान का प्रयोग न करें। किसी व्यक्ति से लड़ाई कहने से परहेज करें।

8. इस दिन नीला या काला जैसे गहरे रंग के कपड़ों को न पहनें। अष्टमी को पीले या लाल रंग के वस्त्र पहनना शुभ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here