Delhi Metro

रेल और हवाई सेवा के शुरू होने के बाद अब Metro सेवा के भी जल्द शुरू होने के कयास लगाए जा रहे हैं। माना जा रहा है एक जून से मेट्रो सेवा शुरू हो जाएगी।

देश में लॉक डाउन का चौथा चरण जारी है जिसकी समय अवधि 31 मई को पूरी होगी। इस लॉक डाउन के बावजूद देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का आंकड़ा 1 लाख 50 हजार से अधिक हो चुका है जिसमें से 4337 लोगों की मौत भी हो चुकी है लेकिन बावजूद इसके संक्रमण अब भी बढ़ता जा रहा है। इस महामारी के बढ़ते संक्रमण के बीच सरकार यात्रियों के लिए हवाई और रेल सेवा शुरू कर चुकी है वहीं अब जल्द ही भारत सरकार मेट्रो की सेवा को भी शुरू कर सकती है।

OLA के बाद अब UBER करने जा रहा कर्मचारियों की छटनी, TVS भी…

26 मई से मेट्रो प्रबंधन के आदेश पर 14 हज़ार कर्मचारी काम पर वापस आ गए हैं। ज्यादातर कर्मचारियों ने सुबह से ही अपने काम की भी शुरुआत भी कर दी है। वहीं अब तकरीबन दो महीने से बंद दिल्ली मेट्रो एक बार फिर नए नियमों के साथ फिर चलने को तैयार है। हालांकि, कोरोना वायरस से लड़ने और संक्रमण रोकने के लिए मनमानी करने वाले लोगों पर सख्ती की जाएगी। मैट्रो में महामारी एक्ट के तहत कुछ नए जुर्माने तय किए गए हैं, तो वहीं कुछ की राशि बढ़ाई भी जा सकती है। ये सभी नए प्रावधान केंद्र सरकार की मंजूरी के बाद लागू हो जाएंगे।

Twitter ने अमेरिकी राष्ट्रपति Donald Trump को दी चेतावनी, भड़के ट्र्ंप

  • मेट्रो एक्ट में बदलाव

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मेट्रो एक्ट में बदलाव किया जा रहा है। मेट्रो में थूकने पर 200 रुपये का जुर्माना लगता है लेकिन अब इसे बढ़ाकर एक हजार रुपये किया जाएगा। हालांकि इस मामले में अभी केंद्र सरकार की ओर से दिशा-निर्देशों का इंतजार है। सरकार की ओर से मंजूरी के बाद ही मेट्रो के परिचालन और रखरखाव एक्ट के तहत इस जुर्माने के प्रावधान को आखिरी रूप दिया जाएगा।

  • सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा पहले मौका

मेट्रो परिचालन को लेकर दिल्ली सरकार ने जो प्रस्ताव केंद्र को भेजा है, उसके अनुसार मेट्रो की शुरुआत के पहले हफ्ते में सिर्फ सरकारी कर्मचारियों को ही यात्रा का मौका मिल सकता है। उसके एक हफ्ते बाद हालातों का जायजा लिया जाएगा। अगर बिना परेशानी सब कुछ ठीक चलता रहा तो फिर बाकी लोगों के लिए भी इसका परिचालन शुरू हो जाएगा। हालांकि आखिरी फैसला केंद्र सरकार लेगी।

देश के 200 से ज्यादा शहरों में मिलेगी JioMart की सुविधा

ऐसे होगी शुरुआत

  • नए प्रस्ताव के प्रावधानों के अनुसार, बिना फेस मास्क के मेट्रो या स्टेशन में प्रवेश नही होगा। यहां ध्यान रखें यात्रा के दौरान फेस मास्क उतारने पर भी उस व्यक्ति से जुर्माना वसूला जाएगा। एक्ट में इसे मेट्रो कर्मचारियों को चालान का अधिकार हो इसके लिए भी बदलाव किया जा सकता है।
  • मेट्रो स्टेशन पर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन हो सके इसके लिए स्टेशन पर मेट्रो पहले की तुलना में 30 सेकेंड अधिक समय के लिए रुकेगी। इसके अलावा मेट्रो में सीमित संख्या में लोगों को बैठने की इजाजत होगी। एक कोच में 50 से 60 लोग ही सफर कर सकेंगे।
  • मेट्रो में यात्रा कैशलेस होगी। काउंटर पर टिकट की सुविधा नहीं होगी। स्टेशन पर टोकन के लिए भी टिकट वेंडिंग मशीन बंद की जा रही है, ताकि लोग कैश के जरिए टोकन का लेन-देन ना कर सकें। सिर्फ स्मार्ट कार्ड के जरिए ही मेट्रो में यात्रा हो पाएगी। दिल्ली के कई स्टेशन अभी ऐसे हैं जहां पर टीवीएम से टोकन मिलता था।

कोरोना जुर्माने की तैयारी में मेट्रो प्रशासन

मेट्रो प्रशासन ऐसे लोगों पर भी जुर्माने का प्रावधान कर रही है जो जानबूझकर कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलाने की कोशिश करते दिखेंगे। जैसे- ऐसे लोग जो जानबूझकर खांसते दिखेंगे, किसी अन्य के पास आ-जा रहे होंगे, मेट्रो ऐसे लोगों की निगरानी करेगी और जुर्माने के साथ ही कार्रवाई भी करेगी। हालांकि, अब तक इस जुर्माने की राशि को तय नहीं किया गया है। इसे नए जुर्माने के प्रस्ताव में भी शामिल किया जाएगा।

आपको बता दें, वैसे तो अभी तक मेट्रो सेवा कब शुरू होगी इसका तो निर्णय नहीं किया गया है लेकिन मेट्रो के कर्मचारियों के मंगलवार सुबह से अपना काम संभाल लेने के बाद उम्मीद की जा रही थी 1 जून से मेट्रो सेवाएं शुरू हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here