Delhi Metro

Lockdown (लॉक डाउन) के बाद यात्रियों की सुविधा और सुरक्षा को देखते हुए दिल्ली मेट्रो तैयारियों में जुट गया है इसके साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए कई तरह के बदलाव भी किए जा रहे हैं।

देश में लगाए गए लॉक डाउन के खत्म होने के बाद कोरोनावायरस को देखते हुए रेलवे, हवाई सेवा के साथ ही दिल्ली मेट्रो में भी यात्रियों के सफर को लेकर कई बदलाव किए गए हैं। बता दें, कोरोना के असर को देखते हुए दिल्ली मेट्रो यात्रा के अंदाज को बदलने जा रहा है। इसके मुताबिक, आपको भीड़भाड़ भरे कोच नजर नहीं आएंगे यानी एक कोच के अंदर अल्टरनेट सेटिंग की व्यवस्था की जा रही है।

दिल्ली सरकार का बड़ा आदेश, 24 घंटे में देनी होगी कोरोना वायरस जांच की रिपोर्ट

दरअसल दिल्ली मेट्रो लॉक डाउन के बाद की तैयारियों को लेकर काम में जुट गया है। पूरे मेट्रो परिसर की तसल्ली से साफ सफाई की जा रही है। डीएमआरसी के वरिष्ठ अधिकारी अनुज दयाल की माने तो कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए स्वच्छता और रखरखाव पर विस्तार से काम हो रहा है।

  • 264 स्टेशनों, 2200 कोच की सफाई

अनुज दयाल ने जानकारी देते हुए कहा कि ये काफी लंबा चौड़ा काम है। इसके अनुसार हमें 264 स्टेशनों, 2200 कोच, 1100 एस्कलेटर्स और 1000 लिफ्ट की साफ-सफाई करनी है और इनकी कार्यक्षमता चेक करनी है। ध्यान हो की राजधानी दिल्ली में 22 मार्च के बाद से ही मेट्रो सेवा बंद है।

  • अल्टरनेट सीटिंग की व्यवस्था होगी

दिल्ली मेट्रो के मुताबिक, सफाई के बाद से बड़ी जिम्मेदारी ये है कि ऑपरेशन शुरू होने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन हो। दिल्ली मेट्रो के कोच और परिसर में सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए रणनीति बनाई जा रही है। मेट्रो कोच में अल्टरनेटिंग व्यवस्था की जा रही है साथ ही सोशल डिस्पेंसिंग का पालन कराने के लिए मेट्रो में लगने वाली लाइन में यात्रियों के बीच 1 मीटर की दूरी होनी चाहिए। इसके अलावा यात्रियों को मेट्रो में एक-एक सीट छोड़कर बैठना होगा इतना ही नहीं दिल्ली मेट्रो एक बार में सफर करने वाले लोगों की संख्या भी सीमित कर सकती है जिससे भीड़ ना लगे।

  • सिग्नल, बिजली सप्लाई, मेट्रो ट्रैक की जांच

हालांकि दिल्ली मेट्रो कब से चलेगी इसकी जानकारी नहीं है लेकिन इससे पहले बिजली सप्लाई, सिग्नल, मेट्रोटेक की अच्छे से जांच की जा रही है ताकि मेट्रो शुरू होने पर यात्रियों को उनकी मंजिल तक पहुंचाया जा सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here