Arvind Kejriwal

दिल्ली सरकार ने मेडिकल टेस्ट कराने वाली लैब्स को आदेश दिया है कि उन्हें कोरोना वायरस की जांच से संबंधित रिपोर्ट को 24 घंटे के अंदर उन्हें देनी होगी।

Coronavirus (कोरोना वायरस) को फैलने से रोकने के लिए कई तरह के उपाय अपनाए जा रहे हैं लेकिन बावजूद इसके संक्रमण थमता नहीं दिख रहा। इस बीच दिल्ली सरकार ने मेडिकल टेस्ट कराने वाली लैब्स को आदेश देते हुए कहा है कि कोरोना वायरस की जांच से संबंधित रिपोर्ट को 24 घंटे के अंदर उन्हें देनी होगी।

दिल्ली में जल्द बदलता नजर आएगा मौसम का मिजाज, जानें बाकी राज्यों में कैसा…

बता दें, दिल्ली सरकार की ओर से सभी आईसीएमआर अधिकृत लैब को अनुपालन रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए आदेश दिया गया है। इस आदेश के मुताबिक, लैब वायरस से संबंधित जांच की रिपोर्ट 24 घंटे से ज्यादा देर तक लंबित नहीं रख सकती।

  • आमने-सामने आई दिल्ली सरकार और आरडब्ल्यूए

इस बीच, RWA (रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन) और दिल्ली सरकार आमने सामने आ गए हैं। दिल्ली सरकार आरडब्ल्यूए को लेकर सख्त हो गई है साथ ही आदेशों के सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं।

  • डीएम और डीसीपी को दिया आदेश

सभी डीएम और डीसीपी को दिल्ली सरकार ने आदेश दिया है कि सभी डीएम और डीसीपी केंद्रीय गृह मंत्रालय की गाइडलाइन और दिल्ली सरकार के आदेशों का सख्ती से पालन करवाएं। दिल्ली सरकार ने कहा, “हमारी जानकारी में आया है कि जिन गतिविधियों की केंद्रीय गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देश के बाद हमने इजाजत दी थी, उनको अलग-अलग सरकारी एजेंसी और आरडब्ल्यूए लागू नहीं होने दे रही. यह दिशा-निर्देशों और आदेशों का उल्लंघन है.”

DTC ने ड्राइवर के पद पर निकाली वैकेंसी, 10वीं पास कर सकते हैं अप्लाई

इसके अलावा सभी डीएम और दिल्ली पुलिस के डीसीपी को आदेश दिया गया है कि वह फील्ड में मौजूद लोगों को अच्छी तरह से वायरस को लेकर जानकारी दें और आदेश को पूरी तरह से लेकर लागू करवाएं। बता दें, कई जगह से खबरें आ रही हैं कि दिल्ली सरकार के आदेशों के बावजूद प्रशासन, पुलिस और आरडब्ल्यूए आदेशों को लागू नहीं होने दे रहे। जैसे कई की कुछ आरडब्लूय घरों में काम करने वाली मेड को अपनी सोसाइटी में घुसने से रोक रहें हैं।

वहीं जिन आर्थिक गतिविधियों और औद्योगिक गतिविधियों के लिए दिल्ली सरकार द्वारा इजाजत दे दी गई है उसे लेकर भी कई जगह से शिकायतें आ रही हैं। कहा जा रहा है पुलिस प्रशासन द्वारा औपचारिक इजाजत लेने के लिए कह रहा है जबकि आदेश ये थे कि किसी को अलग से इजाजत लेने की जरूरत नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here