कोरोना का कहर अब चिड़ियाघर में भी पहुंच गया है। न्यूयॉर्क में इस वायरस से बाघिन पॉजिटिव मिली है।

इंसानों के बाद अब एक बाघिन के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने की पुष्टि हुई है। बता दें, न्यूयॉर्क के ब्रॉन्क्स चिड़ियाघर में चार साल की मलेशियाई बाघिन नादिया kovid-19 यानि कोरोना से पॉजिटिव पाई गई है। चिड़ियाघर की वाइल्डलाइफ कंजरवेशन सोसाइटी ने अपने प्रेस रिलीज में बताया कि बाघिन नादिया से पीड़ित है।

नादिया के साथ ही उसकी बहन अजूल, दो अमूर बाघ और तीन अफ्रीकन शेरों को भी सूखी खांसी की शिकायत हो रही है। लेकिन इन सभी की अभी जांच नहीं कि गई है की ये भी इस वायरस से संक्रमित है या नहीं।

यूएसडीए नेशनल वेटरीनरी सर्विस लेबोरेटरी ने ब्रॉन्क्स चिड़ियाघर में मौजूद बाघिन नादिया के कोरोना से पीड़ित होने की पुष्टि की है।

चिड़ियाघर की वाइल्डलाइफ कंजरवेशन सोसाइटी ने जानकारी देते हुए कहा कि इन सभी बाघों और शेरों के खाने में कमी आ गई थी। जिसके बाद ये खांसने भी लगे थे वहीं जब इन्हें वेटरीनरी डॉक्टर को चेकअप के लिए दिखाया। तब पता चला कि नादिया को कोरोना का संक्रमण है। वहीं अब बाकियों की जांच की जानी है।

आपको बता दें, ब्रॉन्क्स चिड़ियाघर में चार बाघ, तीन शेरों के अलावा स्नो लेपर्ड,अमूर लेपर्ड, पूमा, चीता, क्लाउडेड लेपर्ड जैसे कई जानवर हैं। लेकिन अब तक उनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखाई दिए हैं।

वाइल्डलाइफ कंजरवेशन सोसाइटी ने बताया की हमने चिड़ियाघर के अंदर ही जांच केंद्र का निर्माण किया है। जहां सभी जीवों की जांच की जा रही है। इस कार्य में अमेरिकी सरकार के एक्सपर्ट भी जुटे हुए हैं। लेकिन अब तक वाइल्डलाइफ कंजरवेशन सोसाइटी और अन्य एक्सपर्ट यह पता नहीं लगा पाई है कि आखिरकार बागी नदिया को यह वायरस हुआ किस तरह।

ऐसा माना जा रहा है चिड़ियाघर का ही कोई कर्मचारी जिसमें कोरोना के लक्षण होंगे, उसी की वजह से बाघिन नदिया भी संक्रमित हुई है। वहीं नदिया के संक्रमित होने के बाद 16 मार्च से आम लोगों के लिए चिड़ियाघर बंद कर दिया गया था। इसके साथ ही सोसाइटी ने आदेश दिया था कि अगर किसी चिड़ियाघर के किसी कर्मचारी कोवायरस का कोई भी लक्षण दिखाई दे तो वह जानवरों से दूरी बनाकर रहेगा। लेकिन किस कर्मचारी ने ऐसा किया है इसका पता लगाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here