Vaccine

कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर अमेरिकी कंपनी ने दावा किया है कि उसने वायरस का 100 फीसदी इलाज ढूंढ लिया है।

पूरी दुनिया में इस वक्त कोरोना वायरस के कारण हाहाकार मचा हुआ है। हर देश इस वायरस से जुड़ी वैक्सीन तैयार करने में दिन रात एक कर रहा है। इस बीच अमेरिकी स्थित कंपनी सोरंटो थेराप्यूटिक्स ने दावा किया है कि उसने कोविड-19 (कोरोना वायरस) का इलाज ढूंढ लिया है।

लॉक डाउन 4.0 से जुड़ी पूरी जानकारी

बता दें, अमेरिका में कैलिफोर्निया की कंपनी सोरेंटो थेराप्यूटिक्स ने दावा करते हुए कहा है कि उसने कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए ‘STI-1499’ नाम की एंटीबॉडी तैयार की है। कंपनी को पेट्री डिश एक्सपेरिमेंट से पता चला है कि तैयार की गई ये STI-1499 एंटीबॉडी वायरस को इंसानों की कोशिकाओं में फैलने से 100 फीसदी रोकने में सक्षम है।

यहां आपको बता दें कि कोरोना वायरस के लिए सार्स-कोव-2 को जिम्मेदार माना जाता है लेकिन ये पहली बार नहीं है जब कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने को लेकर दावा किया गया हो। इससे पहले इटली और इजरायल ने भी वायरस की वैक्सीन बनाने का दावा किया था।

हरियाणा के युवाओं की नौकरी के लिए सरकार का ये है प्लान

शुक्रवार को सामने आए शोध के रिजल्ट से पता चला कि कंपनी द्वारा बनाए गए एंटीबॉडी STI-1499 ने बहुत कम एंटीबॉडी खुराक पर ही कोविड-19 (कोरोना वायरस) के संक्रमण को पूरी तरह से बेअसर कर दिया, जिसके बाद अब ये आगे जांच और विकास के लिए जरूरी हो गया है। शुरुआती बायो केमिकल और बायो फिजिकल विश्लेषण भी संकेत देते हैं कि तैयार किया गया STI-1499 एक संभावित मजबूत एंटीबॉडी दवा है।

कंपनी का कहना है कि वह इस दवा को और बनाने के लिए, मंजूरी लेने और लोगों के लिए इसे उपलब्ध कराने के लिए दिन-रात कड़ी मेहनत कर रही है। कंपनी ने कहा 1 महीने के अंदर वह इस एंटीबॉडी के लगभग दो लाख डोज तैयार कर लेगी। इसकी मंजूरी के लिए कंपनी ने अमेरिका के फूड एण्ड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन यानी एफडीए के पास आवेदन भी दिया है।

सोरेंटो के अध्यक्ष और सीईओ हेनरी जी का कहना है, “हमारी एसटीआई -1499 एंटीबॉडी ने असाधारण चिकित्सीय क्षमता दिखाई है और इसकी मंजूरी मिलने के बाद इसके प्रयोग से काफी जिंदगियां बच सकती हैं”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here