देश में Lockdown (लॉक डाउन) 4.0 का ऐलान कर दिया गया है। इसे लेकर गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है।

NDMA ने देश में जारी लॉक डाउन की मियाद को 31 मई तक के लिए आगे बढ़ा दिया है। इसे लेकर सभी मंत्रालय, विभाग, राज्य सरकारों को चिट्ठी भेजी गई है इसके साथ ही लॉक डाउन के नियमों का पालन कराने को लेकर भी कहा गया है। आपको बता दें, पहले एनडीएमए औपचारिक रूप से लॉक डाउन जारी करने का आदेश जारी करता है जिसके बाद राष्ट्रीय कार्यकारी समिति (एनईसी) लॉकडाउन के दिशानिर्देशों को फ्रेम करती है। इधर, राजधानी की केजरीवाल सरकार लॉकडाउन को लेकर कल यानि सोमवार को ऐलान करेगी।

हरियाणा के युवाओं की नौकरी के लिए सरकार का ये है प्लान

NDMA

बता दें कि लॉक डाउन 3.0 के खत्म होने के बाद अब लॉक डाउन 4.0 को लगा दिया गया है। इसे लेकर गृह मंत्रालय की ओर से गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है जिसके मुताबिक, घरेलू-विदेशी उड़ानों को अभी इजाजत नहीं दी जाएगी। हॉटस्पॉट एरिया में सख्ती का दौर जारी रहेगा। मेट्रो पर भी पाबंदी जारी रहेगी। इसके साथ ही स्कूल-कॉलेज भी बंद रहेंगे। रस्टोरेंट, स्कूल, जिम खोलने की इजाजत अभी नहीं दी गई है।

जानें लॉक डाउन 4.0 में किसे कितनी राहत

गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों के अनुसार, चिकित्सा में सहायता करने वाले होटल के अलावा सभी होटल और रेस्तरां बंद ही रहेंगे। हालांकि लोगों को होम डिलिवरी की सुविधा दी जा सकती है। इस लॉक डाउन की अवधि यानी 31 मई तक देशभर में जिम, स्विमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थियटर, सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, बार और सभागार बंद रहेंगे इसके साथ ही मेट्रो और रेल सेवा बंद रहेगी। सामान्य हवाई सुविधा भी नही मिलेगी।स्कूल, कॉलेज और कोचिंग भी बंद रहेंगी।

UP में इन चीजों के बिना निकले घर से बाहर तो देना होगा भारी…

NDMA

  • क्या-क्या खुलेगा?

गृह मंत्रालय के दिशानिर्देश के अनुसार लॉकडाउन-4 में मॉल और कॉम्पलेक्स को खोलने की परमिशन नहीं दी गई है, लेकिन दुकानों को खोलने के फैसले पर राज्य सरकारें खुद विचार करेंगी। इंटरस्टेट बस सेवा खुलेंगी, पान, गुटके की बिक्री हो सकेगी। शर्तों के साथ मिठाई की दुकान खुलेंगी, किसी शादी समारोह में 50 लोग शामिल हो सकेंगे। स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स खुलेंगे लेकिन बिना दर्शकों के। स्टैंड अलोन दुकान खुलेंगी। दुकान पर 5 लोग से ज्यादा काम नहीं करेंगे।

  • बसों पर राज्य करेंगे फैसला

लॉकडाउन 4.0 में राज्यों की परस्पर सहमति से अंतरराज्यीय यात्री वाहनों, बस सेवाओं की सेवा मिल सकती है। राज्य सरकारें इंटर स्टेट बस सर्विस स्थिति के मुताबिक शुरू कर सकती हैं। इसका मतलब यह है कि राज्य आपस में बातचीत करके इस पर फैसला कर सकते हैं।

  • राज्य सरकारें तय करेंगी जोन

नई गाइडलाइन के अनुसार, जोन (रेड, ऑरेंज, ग्रीन जोन) अब राज्य सरकारें तय करेंगी। सभी तरह के पूजा स्थल (मंदिर, मस्जिद) बंद रहेंगे और ईद का आयोजन भी लॉकडाउन में ही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here