CBSE Board 2020

देश में कोरोना की मार के बीच नौवीं, दसवीं में फेल हुए सीबीएसई के छात्रों को एक और मौका दिया जाएगा। जानें क्या करना होगा।

इस समय पूरा देश कोरोना वायरस की मार झेल रहा है। बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी को इस महामारी के कारण घर पर बैठना पड़ा है। बच्चे जहां अपनी पढ़ाई को लेकर चिंतित है तो वहीं बड़े अपनी नौकरी और सैलरी को लेकर। ऐसे में वह बच्चे ज्यादा दुखी है जो स्कूल के एग्जाम में पास नहीं हो पाए थे और अब बड़ी संख्या में अभिभावकों की समस्याएं सीबीएसई बोर्ड तक पहुंच रही हैं।

Bihar Board: इस महीनें जारी होगा 10वीं का रिजल्ट,…

इन सभी चीजों को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने फैसला लिया है कि इस साल 9वी और 11वीं में फेल हुए स्टूडेंट को स्कूल आधारित टेस्ट की सुविधा दी जाएगी। हालांकि यह मौका उन छात्रों को दिया जाएगा जिनकी परीक्षा पूरी हो चुकी है और रिजल्ट आ गए हैं या उनके एग्जाम पूरे नहीं हो पाए थे। यह सब्जेक्ट और उनके अटेंप्ट के आधार पर लिए जाएंगे।

सीबीएसई का यह कहना है कि ऐसे बच्चों से दोबारा से पैसे संपर्क करके ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन इनोवेटिव टेस्ट कराएंगे और यह निश्चित किया जाएगा कि उन्हें टेस्ट के आधार पर पास किया जा सकता है या नहीं। बता दें, इंटेक्स के लिए बच्चों को समय दिया जाएगा यह नियम सीबीएसई से संबंधित सभी स्कूलों पर लागू होगा।

लॉकडाउन के दौरान इन कॉलेज-यूनिवर्सिटी के बदले नियम साथ…

गुरुवार जारी नोटिफिकेशन में सीबीएसई ने ये भी साफ किया है कि ये मौका सिर्फ इसी साल दिया गया है जो कोरोना वायरस के हालातों को देखकर लिया गया है। यह भविष्य में मान्य नहीं होगा।

  • 9वीं और 11वीं के लिए जारी नोटिफिकेशन

CBSE

  • सीबीएसई ने जारी किया है नया सिलेबस, यहां देखें

सत्र 2020-21 में सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने के लिए 75% उपस्थिति अनिवार्य की है। हाल ही में 9 वीं, 10 वीं, 11 वीं और 12 वीं के स्टूडेंट्स के लिए CBSE ने सिलेबस 2020-21 भी जारी किया है।

CBSE Board Exam 2020: अब सिर्फ इन 29 विषय…

वहीं जो बच्चे घर से क्लास अटेंड कर रहे हैं उन्हें अपनी क्लास का नया सिलेबस पता होना जरुरी है। खासकर वो स्टूडेंट्स छात्र जो सीबीएसई 10 वीं और 12 वीं बोर्ड मार्च 2021 में परीक्षा में बैठने वाले हैं।

    • लिंक पर जाकर देखें अपनी कक्षा का सिलेबस

डायरेक्ट लिंक CBSE

ज्यादातर सीबीएसई स्कूल बच्चों को ऑनलाइन क्लासेस दे रहे हैं और शिक्षक उपस्थिति ले रहे हैं। ऐसे में कई छात्रों यह सवाल कर रहे हैं कि अगर वह ऑनलाइन क्लासेज में हिस्सा नहीं लेते हैं तो ऐसे में कोई परेशानी हो सकती है। ऐसे में आपको बता दें, अधिकारी के नियमों और विनियमों के मुताबिक, 10 वीं और 12 वीं बोर्ड परीक्षा के लिए सीबीएसई ने 75% उपस्थिति अनिवार्य की है। स्टूडेंट्स को ये सुझाव दिया जा रहा है वे ऑनलाइन क्लासिस को गंभीरता से लें और उपस्थिति बनाए रखने का प्रयास करें।

  • नया सीबीएसई पाठ्यक्रम 2020-21

सीबीएसई ने 9 वीं, 10 वीं, 11 वीं और 12 वीं के लिए हाल ही में शैक्षणिक सत्र 2020-21 पाठ्यक्रम जारी किया है। स्टूडेंट्स को सलाह दी जाती है कि वे नए सीबीएसई सिलेबस 2020-21 को अपने पास रखें। इस नए सिलेबस को स्टूडेंट्स सीबीएसई की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं।

  • स्टूडेंट सीबीएसई से पूछ रहे ये सवाल, देखें CBSE FAQ
  • अगस्त में आ सकता है CBSE रिजल्ट 2020

पहले ही CBSE (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) द्वारा यह निश्चित कर लिया गया है कि CBSE 12 वीं और 10 वीं के बची हुई परीक्षा 1 जुलाई से 15 जुलाई 2020 तक होगी। इस बीच, कुछ समय बाद CBSE मूल्यांकन प्रक्रिया शुरू होगी। 2020 के अगस्त में सीबीएसई रिजल्ट जारी होने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here