मध्य प्रदेश के इंदौर में कुर्बानी देने वाले बकरों की खरीदारी whatsapp (व्हाट्सएप) से की जा रही है।

कोरोना ने लोगों की जिंदगी में बड़ा बदलाव ला दिया है। खाने-पीने से लेकर बैठने उठने तक के तरीकों में बदलाव आ गया है। इस बीच अब बकरीद का त्यौहार आने वाला है। ऐसे में बकरीद के लिए बकरों की खरीदारी कैसे हो यह बड़ी समस्या बन गया था क्योंकि बाजार पूरी तरह से खुल पा रहे हैं। इस बीच मध्य प्रदेश के इंदौर में कुर्बानी देने वाले बकरों की खरीदारी whatsapp (व्हाट्सएप) से की जा रही है।

बता दें, कोरोना महामारी के कारण इंदौर में बकरा बाजार नहीं लग पा रहा है। ऐसे में अब व्यापारी और खरीदार दोनों ऑनलाइन खरीदारी का सहारा ले रहें हैं।
लोग सोशल मीडिया ऐप व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम का इस्तेमाल बकरों की खरीदारी और बिक्री में कर रहे हैं।

बिक्री के लिए वॉट्सऐप पर बना ग्रुप

समाचार एजेंसी एएनआई को बकरों के व्यवसायी आरिफ खान ने ये जानकारी दी कि बकरा व्यापारियों ने एक ग्रुप बनाया है जिसमें बकरा खरीददार और बेचने वाला दोनों ही है। बकरा विक्रेताओं ने इस ग्रुप में बकरों  की तस्वीरें और वीडियोस और कीमत डालें हैं। जिन लोगों को इस ग्रुप में अपनी जरूरत के मुताबिक बकरा पसंद आता है तो वह है उस बकरे के मालिक से तुरंत बातचीत कर बकरों को सामने जाकर देख सकता है और मोलभाव के बाद एक डील फाइनल कर सकता है।

8 से 15 हजार रुपये के बकरे

आरिफ खान बताते हैं कि कोरोना की वजह से बकरों की कीमत में 20 से 30 फीसदी की गिरावट हुई है। इस बार बकरों की कीमत का रेंज 8 से 15 हजार रुपये है।

मुफ्त में उपलब्ध है व्हाट्सग्रुप का लिंक

व्यापारियों का कहना है कि इस वॉट्सऐप का लिंक मुफ्त में उपलब्ध है और कोई भी इसका सदस्य बन सकता है। आरिफ खान ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से बकरों की डिमांड कम है। उम्मीद है कि 1 अगस्त को बकरीद मनाई जाएगी। लोगों को अभी भी उम्मीद है कि बकरों का बाजार सजेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here