flight

लॉक डाउन के बाद अगर विमान सेवाएं शुरू होती हैं तो विमान में सफर करने के लिए आपको कड़ी सुरक्षा के साथ ही परीक्षा से भी गुजरना होगा।

इस वक्त पूरे देश में कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन जारी है ऐसे में विमान सेवाएं भी बंद हैं लेकिन लॉक डाउन खुलने के बाद अगर विमान सेवाएं शुरू होंगी तो आपको पहले से ज्यादा पहले से कड़ी सुरक्षा का सामना करना पड़ सकता है। बता दें, उड्डयन मंत्रालय कोरोना वायरस को लेकर चेकिंग पहले के मुताबिक बढ़ाई जा सकती है इसके साथ ही आपको कोविड-19 यानी कोरोना वायरस से जुड़े सवाल-जवाब का भी फॉर्म भरना हो सकता है।

जानें पीएम मोदी के संबोधन में शामिल पांच पिलर

इसके अलावा जो उपाए मंत्रालय अपना सकता है उसमें केबिन बैग नहीं ले जाना, यात्रा से कम से कम दो घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचना। इतना ही नहीं आरोग्य सेतु ऐप का प्रयोग जैसे कदम शामिल हो सकते हैं।

  • SOP का मसौदा पेश

बता दें, केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने देशभर में यात्री विमानन सुविधा फिर से शुरू करने के लिए एक स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रॉसिड्योर (SOP) का मसौदा पेश किया है। ध्यान हो कि, कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन के तहत बीते 25 मार्च से ही विमानन सेवाएं बंद हैं।

  • जांच से गुजरना होगा सबको

विमान यात्रा के लिए सभी घरेलू यात्रियों को अपने फोन पर आरोग्य सेतु आप पर ग्रीन स्टेटस के अलावा वेब चेक-इन तथा टेंपरेचर चेक जैसे जांच के उपायों को प्रस्तावित किया गया है। एसओपी के अनुसार, इस जांच से केबिन और कॉकपिट क्रू को भी गुजरना पड़ सकता है।

  • सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर

यात्रियों और चालक दल के सदस्यों के साथ ही सिक्योरिटी एजेंसी के अलावा एयरपोर्ट ऑपरेटर्स को भी इस तरह की जांच से गुजरना पड़ सकता है। इनमें इंट्री गेट पर आइडेंटिटी कार्ड चेकिंग नहीं करना और सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखना जैसे उपाय शामिल हो सकते हैं। ये मसौदा एयरलाइंस और एयरपोर्ट ऑपरेटर्स समेत विभिन्न हितधारकों के साथ वार्ता कर तैयार किया गया है। सूत्रों के अनुसार, इस मसौदे पर हितधारकों से टिप्पणियां मांगी गई थीं, जो अब मिल गई हैं। हालांकि अभी आखिरी मसौदा तैयार नहीं हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here