Donald Trump

एक बार फिर ताकतवर देश में शुमार अमेरिका मध्यस्थता का राग आलाप रहा है। भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद पर अमेरिका का कहना है कि वह मध्यस्थता कराने को तैयार है।

पहले कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता का राग अलापना वाले अमेरिका ने अब चीन के साथ छिड़े सीमा विवाद पर मध्यस्थता की पेशकश की है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा अमेरिका भारत और चीन के बीच विवाद के मामले पर मध्यस्थता कराने को तैयार है।

ट्रंप ने ट्वीट किया, “हमने भारत और चीन दोनों को सूचित किया है अगर वो चाहें तो सीमा विवाद में अमेरिका मध्यस्थता करने को तैयार है.”

Twitter ने अमेरिकी राष्ट्रपति Donald Trump को दी चेतावनी, भड़के…

बता दें कि लद्दाख में इस महीने की शुरुआत से ही चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक एक दूसरे को आंख दिखा रहे हैं। चीन की ओर से लगातार सीमा पर सैनिकों की संख्या बढ़ाने और बेस बनाने की खबर सुर्खियों में बनी हुई हैं। ऐसे में भारत भी पूरी तरह से मुस्तैद है।

Amazon देगा 50 हजार लोगों को नौकरी, मिलेगी ये सुविधा

आपको बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते दिन भी इस मामले पर प्रधानमंत्री कार्यालय में वार्तालाप किया था। मंगलवार को पीएम मोदी ने लद्दाख मामले पर पूरी रिपोर्ट ली, इसके साथ ही तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया। यहां ध्यान हो इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल भी मौजूद रहे, इस दौरान सेना प्रमुखों, सीडीएस से इस मसले पर ब्लू प्रिंट मांगा गया है। पीएम मोदी की इस बैठक से पूर्व ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस मुद्दे को लेकर बैठक कर चुके हैं और यह फैसला लिया था कि भारत लद्दाख बॉर्डर पर अपनी सड़क का निर्माण नहीं रोकेगा

अलर्ट मोड में है भारत

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में पिछले कुछ दिनों से चीन की तरफ से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास सैन्य गतिविधियों के बढ़ने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव है। भारत चीन द्वारा अपनी सीमा के अंदर सड़क निर्माण करने पर चीन का विरोध कर रहा है। भारत भी चीन की इन हरकतों को देखकर अलर्ट मोड में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here