CM Yogi

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रदेश में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की ऑडिट के लिए 11 कमेटी बनाने का फैसला लिया है।

इस समय पूरा देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रही है। भारत में भी इसके खिलाफ लड़ाई जारी है। देश में लॉक डाउन जारी रहने के बाद भी कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लिहाजा उत्तर प्रदेश में संक्रमण के मामलों के तेजी से बढ़ने के बाद प्रदेश की योगी सरकार ने इस वायरस से होने वाली मौतों के ऑडिट के लिए 11 कमेटियों के गठन का फैसला लिया है।

इन कमियों का प्रमुख कार्य यूपी में कोरोनावायरस से जान गवाने वाले लोगों की डेथ को ऑडिट करना होगा।
ये कमेटियां मरीज के अस्पताल में एडमिट होने और उसके बाद इलाज तक पर रिपोर्ट बनाकर सरकार को सौंपेंगी। इस पर पूरी जानकारी लेना भी कमेटी की ही जिम्मेदारी होगी।

अब टीवी पर लगेगी UP बोर्ड की कक्षाएं, 10वीं-12वीं की क्लासेज DD पर

हालांकि यह भी सरकार की तरफ से साफ किया गया है कि कोरोना वायरस से पहले की स्थाई बीमारियों का इलाज करना भी कमेटी की पहली जिम्मेदारी होगी।

ये कमेटियां केजीएमयू, एसजीपीजीआई, पीजीआई समेत कई मेडिकल कॉलेजों में बनाई जाएंगी। जिनमें मेडिकल कॉलेज के विशेषज्ञ और डॉक्टर शामिल होंगे। बता दें यह फैसला स्थाई बीमारियों का विश्लेषण कर कोरोना से निपटने की रणनीति के अंतर्गत लिया गया है।

आपको बता दें कि कोरोना से पीड़ित लोगों की जांच के साथ ही इस पर रिसर्च और कोरोना वायरस के असर का अध्ययन भी किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here